जागरण संवाददाता, देहरादून। Uttarakhand Coronavirus Update रेलवे स्टेशन पर कोरोना की अनिवार्य जांच से ट्रेनों में यात्रियों की संख्या घट गई है। 31 मार्च तक जहां साढ़े तीन से चार हजार यात्री प्रतिदिन ट्रेन से दून पहुंच रहे थे, वह संख्या एक अप्रैल को ढाई हजार के करीब रह गई है। दूसरी और स्टेशन के बाहर जांच के नाम पर खानापूर्ति की जा रही है। यहां जांच के दौरान ही कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं किया जा रहा है।

प्रदेश में तेजी से कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। इससे बचाव के लिए सरकार ने नियमावली जारी की है। 31 मार्च केबाद से ट्रेन से दून आने वाले यात्रियों की रेलवे स्टेशन के बाहर एंटीजन जांच की जा रही है। जिससे यात्रियों की संख्या घट गई है। 27 मार्च को 3035 यात्री दून पहुंचे थे। जबकि एक अप्रैल को यात्रियों की संख्या 2439 ही रही। 

उधर, रेलवे स्टेशन के बाहर एंटीजन जांच के दौरान शारीरिक दूरी के नियम का पालन नहीं किया जा रहा है। जांच के लिए लाइनें लग रही हैं। लाइन में लोग एक-दूसरे से सटकर खड़े हो रहे हैं। दूरी के नियम का न तो यात्री ध्यान रख रहे हैं और न ही अधिकारी इस ओर ध्यान दे रहे हैं। इसके अलावा एंटीजन सैंपल लेने के बाद यात्रियों को पर्ची थमाकर घर भेज दिया जा रहा है। जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उन्हें फोन कर सूचित कर रहे हैं। इससे संक्रमण फैलने का खतरा बना हुआ है।

दून से चल रही ये ट्रेनें

  •  देहरादून-हावड़ा स्पेशल एक्सप्रेस
  •  देहरादून-काठगोदाम स्पेशल एक्सप्रेस
  • देहरादून-ओखा स्पेशल एक्सप्रेस
  •  देहरादून-हावड़ा उपासना स्पेशल एक्सप्रेस
  • जनता स्पेशल एक्सप्रेस
  • देहरादून-नई दिल्ली जनशताब्दी स्पेशल एक्सप्रेस
  • देहरादून-काठगोदाम जनशताब्दी स्पेशल एक्सप्रेस
  • देहरादून-कोटा नंदा देवी स्पेशल एक्सप्रेस
  • देहरादून-दिल्ली शताब्दी स्पेशल एक्सप्रेस
  • देहरादून-दिल्ली फेस्टिवल स्पेशल एक्सप्रेस
  • देहरादून-प्रयागराज स्पेशल एक्सप्रेस
  • देहरादून-गोरखपुर स्पेशल एक्सप्रेस
  • देहरादून-मुजफ्फरपुर स्पेशल एक्सप्रेस

यह भी पढ़ें-देहरादून में शनिवार और रविवार को लॉकडाउन लगने की अफवाह फैलाने पर होगी कार्रवाई

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें