जागरण संवाददाता, देहरादून: Uttarakhand Coronavirus Update प्रदेश में रविवार को कोरोना के 109 नए मामले मिले, जबकि 105 मरीज स्वस्थ हुए हैं। कोरोना से दून मेडिकल कालेज में एक मरीज की मौत भी हुई है। वहीं, कोरोना संक्रमण दर 12.7 प्रतिशत रही।

देहरादून में सबसे अधिक 584, नैनीताल में 223 मामले

प्रदेश में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या अभी 1219 है। देहरादून में सबसे अधिक 584, नैनीताल में 223 और हरिद्वार में 75 सक्रिय मामले हैं।

903 सैंपल की जांच में 794 सैंपल की रिपोर्ट निगेटिव

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार पिछले 24 घंटे में निजी व सरकारी लैब से 903 सैंपल की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई है। इनमें से 794 सैंपल की रिपोर्ट निगेटिव आई।

देहरादून में सबसे अधिक 72 लोग कोरोना संक्रमित

देहरादून में सबसे अधिक 72 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। इसके अलावा हरिद्वार में 21, नैनीताल में आठ, ऊधमसिंह नगर में पांच, अल्मोड़ा, चम्पावत व पिथौरागढ़ में एक-एक व्यक्ति संक्रमित मिला। बागेश्वर, चमोली, पौड़ी, रुद्रप्रयाग, टिहरी व उत्तरकाशी में कोरोना को कोई नया मामला नहीं मिला है।

इस साल राज्‍य में कोरोना के कुल 1,01,199 मामले

इधर, विभिन्न जिलों से 697 सैंपल कोरोना जांच को भेजे गए। इस साल प्रदेश में कोरोना के कुल 1,01,199 मामले आए हैं। इनमें से 96,059 (94.92 प्रतिशत) लोग कोरोना को मात दे चुके हैं। कोरोना से इस साल अब तक 309 मरीजों की मौत भी हो चुकी है।

स्वास्थ्य शिविर में हुई डायबिटीज व दंत रोगियों की जांच

ऋषिकेश : परमार्थ निकेतन की ओर से मोहन चट्टी, पौड़ी गढ़वाल में आयोजित स्वास्थ्य चिकित्सा शिविर में डायबिटीज और दंत रोगियों की जांच की गई। इंटरनल मेडिसिन स्पेशलिस्ट व डायबेटोलाजिस्ट डा. विवेक सभरवाल, एनएमओ एसडीसीएच के अध्यक्ष डा. अमित अग्रवाल, डा. विवेक सिंह, डा. विश्रुता तथा चिकित्सकों की टीम ने शिविर मे 275 रोगियों की जांच की।

शिविर में पंजीकृत रोगियों को सीमा डेंटल चिकित्सालय में निश्शुल्क इलाज के लिए कार्ड भी वितरित किए गए। सभी रोगियों को परमार्थ निकेतन की तरफ से निश्शुल्क दवाइयां भी वितरित की गई। शिविर में रूचि राय, कृष्ण कुमार, रामचंद्र शाह, ज्योति भट्ट, ऋषभ मिश्रा और स्थानीय प्रतिनिधि दीपक बेलवाल आदि ने सहयोग प्रदान किया।

श्रीदेव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय के डा. विजय प्रकाश श्रीवास्तव बने परीक्षा नियंत्रक, शोध एवं शिक्षण कार्य में 29 वर्ष का अनुभव

Edited By: Sumit Kumar