देहरादून, जेएनएन। Uttarakhand Coronavirus News Update  उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण का ग्राफ दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है। हालांकि, कोरोना वायरस से जंग जीतने वाले मरीजों की संख्या में भी तेजी से इजाफा हो रहा है, जो राहत की बात है।  मंगलवार को 1107 मरीज ठीक हुए हैं, जबकि 874 नए मामले सामने आए हैं। इनमें सबसे अधिक 368 देहरादून से हैं। इसके अलावा 158 ऊधमसिंह नगर, 76 नैनीताल, 62 हरिद्वार, 43 उत्तरकाशी, 42 पौड़ी गढ़वाल, 34 अल्मोड़ा, 28 टिहरी गढ़वाल, 23 चमोली, 12 बागेश्वर, 10 रुद्रप्रयाग, 17 पिथौरागढ़ और एक चंपावत में सामने आया है। वहीं, 11 की मौत हुई है। वहीं, प्रदेश में अब संक्रमित मरीजों की संख्या 42651 हो गई है, जिनमें से 30107 स्वस्थ हो चुके हैं। वर्तमान में 11831 केस एक्टिव हैं, जबकि 201 की मौत हो चुकी है। इसके अलावा 512 राज्य से बाहर चले गए हैं। 

सीएम के ओएसडी का निधन, कोरोना से थे संक्रमित 

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के विशेष कार्याधिकारी गोपाल सिंह रावत का मंगलवार को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश में निधन हो गया। कोरोना संक्रमित होने के कारण 31 अगस्त को उन्हें एम्स में भर्ती किया गया था। मुख्यमंत्री ने उनके निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री के ओएसडी गोपाल सिंह रावत (62 वर्ष) की 29 अगस्त को कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। 31 अगस्त को उन्हें अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश में भर्ती किया गया था। यहां उनकी हालत निरंतर गंभीर बनी हुई थी। उन्हें आइसीयू वेंटीलेटर पर रखा गया था। इस बीच चार मर्तबा जांच में उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। पांचवीं बार 17 सितंबर को उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई थी। उन्हें नॉन कोविड आईसीयू वेंटीलेटर में शिफ्ट कर दिया गया था। मंगलवार को इनकी रिपोर्ट फिर पॉजिटिव आई। 

कैबिनेट मंत्री हरक सिंह की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव 

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का कोविड टेस्ट नेगेटिव आया है। देर रात जागरण से बातचीत में मुख्यमंत्री ने स्वयं ये जानकारी दी। उन्होंने बताया कि शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय की रिपोर्ट भी नेगेटिव है। मंगलवार को कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत, उच्च शिक्षा राज्य मंत्री धन सिंह रावत, उप नेता प्रतिपक्ष  करन महरा और भाजपा विधायक पुष्कर सिंह धामी में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। मंगलवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र देहरादून में एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे, कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत भी इस कार्यक्रम में मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे कोरोना प्रोटोकॉल का पूरा पालन कर रहे हैं। सभी से सुरक्षित दूरी बनाकर चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि वे बुधवार को विधानसभा सत्र में हिस्सा लेने के लिए सुबह 10 बजे विधानसभा पहुंच जाएंगे।

दून मेडिकल कालेज चिकित्सालय में कोरोना संक्रमित दो मरीजों की हुई मौत

दून मेडिकल कालेज चिकित्सालय में कोरोना संक्रमित दो मरीजों की मौत हो गई। इनमें मेहूंवाला निवासी 78 वर्षीय व्यक्ति को दस सितंबर को अस्पताल में भर्ती किया गया था। रेस्पिरेटरी फेलियर के कारण मरीज ने मंगलवार सुबह दम तोड़ दिया। इसके अलावा इकबालपुर रुडकी निवासी 70 वर्षीय व्यक्ति को 21 सितंबर को अस्पताल में भर्ती किया गया था। मरीज को बाइलेटरल निमोनिया सहित अन्य स्वास्थ्य समस्याएं भी थी।

विधानसभा अध्यक्ष के गनर की कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल के गनर की कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। विधानसभा अध्यक्ष के पॉजिटिव आने के बाद बीते सोमवार को उनके स्टाफ में शामिल पांच व्यक्तियों ने एम्स ऋषिकेश में कोविड जांच के लिए सैंपल दिया था। उनके पीआरओ की रिपोर्ट बीते रोज ही पॉजिटिव आ गई थी। उनके गनर की रिपोर्ट भी आज पॉजिटिव आई है।

विधान सभा में उपनेता प्रतिपक्ष कोरोना पॉजिटिव 

विधान सभा में उपनेता प्रतिपक्ष करन माहरा की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश और कांग्रेस के धारचूला विधायक हरीश धामी कोरोना संक्रमित होने की वजह से अस्पताल में भर्ती हैं। इससे कांग्रेस की चिंता बंद।

ऋषिकेश में मुख्य डाकघर को दो दिन के लिए बंद

ऋषिकेश के घाट रोड स्थित मुख्य डाकघर में तैनात एक डाक सहायक की कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आने के कारण डाकघर को दो दिन के लिए बंद कर दिया गया है। ऋषिकेश डाकघर में डाक सहायक के रूप में काम करने वाला यह कर्मचारी गुमानीवाला श्यामपुर में रहता है।इस कर्मचारी के पिता कुछ दिन पूर्व पॉजिटिव आए थे। जिसके बाद इस कर्मचारी ने अपनी कोविड जांच कराई थी। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद डाकघर को मंगलवार और बुधवार के लिए बंद करने के आदेश अधिकारियों ने जारी किए हैं। जो डाक सहायक पॉजिटिव आया है वह डाकघर में डाक वितरण का काम करता है। पोस्ट ऑफिस में जितनी भी स्पीड पोस्ट व अन्य डाक आती है यह कर्मचारी डाक की छटनी कर के संबंधित क्षेत्र के पोस्टमैन को देता है। करीब आठ पोस्टमैन इस कर्मचारी के सीधे संपर्क में है। स्वास्थ्य विभाग के हेल्थ सुपरवाइजर एसएस यादव ने बताया कि डाक सहायक के संपर्क वाले सभी कर्मचारियों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।

नगर निगम दो दिन के  लिए बंद

कोरोना संक्रमण के चलते नगर निगम जन सामान्य के लिए दो दिनों के लिए बंद कर दिया गया है। नगर आयुक्त विनय शंकर पांडे ने बताया कि एक सफाई सुपरवाइजर में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हई है। ये सुपरवाइजर बीते दो दिनों से नगर निगम में भी आ रहा था। लिहाजा, नगर निगम को दो दिन बन्द करके सैनेटाइज़ कराया जाएगा। नगर निगम अब जन सामान्य के लिए गुरुवार को खुलेगा। जनता के लिए मोबाइल नंबर और ऑनलाइन के जरिये होने वाली नगर निगम की सेवाएं जारी रहेगी।

उत्तराखंड में कोरोना के 814 नए मामले, 1172 मरीज हुए ठीक

उत्तराखंड में कोरोना का संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार को भी प्रदेश में कोरोना के 814 नए मामले मिले हैं। सुकून इस बात का है कि ठीक होने वाले मरीजों की संख्या इससे अधिक रही है। राज्य के विभिन्न अस्पतालों व कोविड-केयर सेंटर से 1172 लोग ठीक होकर डिस्चार्ज हुए हैं। प्रदेश में अब तक कुल 41777 लोग संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 29 हजार (69.42 फीसद) लोग ठीक हो गए हैं। वर्तमान में 12072 एक्टिव केस हैं, जबकि 201 मरीज राज्य से बाहर जा चुके हैं।

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, सरकारी व निजी लैब से कुल 10636 सैंपलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। जिनमें 9822 मामलों की रिपोर्ट निगेटिव है। सभी 13 जनपदों में संक्रमित मरीज मिले हैं। देहरादून में फिर सबसे अधिक 309 लोग कोरोना मामले आए हैं। नैनीताल में 111 व हरिद्वार में 110 लोग की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव है। 70 फीसद के करीब पहुंची रिकवरी दर 

कोरोना संक्रमितों की दिनोंदिन बढ़ती संख्या के साथ अब स्वस्थ हुए मरीजों का आंकड़ा भी कुछ हद तक सुकून दे रहा है। अच्छी बात ये है कि एक लंबे अंतराल के बाद रिकवरी दर 70 फीसद के करीब पहुंच गई है। सोमवार को भी देहरादून से 307, हरिद्वार से 272, नैनीताल से 180, ऊधमसिंह नगर से 158, टिहरी से 108, अल्मोड़ा से 37, पौड़ी व पिथौरागढ़ से 31-31, रुद्रप्रयाग से 24, चंपावत से 11, उत्तरकाशी से आठ व चमोली से पांच मरीज डिस्चार्ज किए गए हैं।

यह भी पढ़ें:  Unlock 4.0: उत्तराखंड आने वालों को ज्यादा छूट देने की तैयारी, संस्थागत क्वारंटाइन से मिल सकती है राहत 

आइटीबीपी के सब इंस्पेक्टर समेत ग्यारह की मौत 

प्रदेश में न केवल संक्रमितों की संख्या बल्कि मौत का ग्राफ भी लगातार बढ़ रहा है। चिंताजनक ये है कि मरने वालों की संख्या 500 के पार पहुंच चुकी है। सिर्फ सितंबर माह में ही अब तक 235 की मौत हो चुकी है। सोमवार को भी 11 मरीजों की मौत के साथ आंकड़ा 504 पहुंच गया है। 

यह भी पढ़ें: Coronavirus: निजी लैब दे रहीं कोरोना जांच की गलत रिपोर्ट, शासन ने बिठाई जांच; होगी कड़ी कार्रवाई

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस