जागरण संवाददाता, देहरादून। गणतंत्र दिवस के अवसर पर दिल्ली के राजपथ पर होने वाली परेड में देवभूमि उत्तराखंड की सांस्कृतिक विरासत भी नजर आएगी। देवभूमि की झांकी को परेड में शामिल किया जा रहा है। मोक्षधाम भगवान बदरीनाथ, टिहरी डैम, हेमकुंड साहिब के साथ ही ऐतिहासिक डोबरा-चांठी पुल झांकी में नजर आएंगे।

साल 2021 में उत्तराखंड की झांकी केदारखंड के माडल पर आधारित थी, जोकि राजपथ पर निकली झांकियों में देश में तीसरे स्थान पर रही थी। तब उत्तराखंड को पहली बार झांकी को लेकर पुरस्कार मिला था। इस बार 12 राज्यों में से देवभूमि की झांकी का चयन हुआ है, जो प्रदेश वासियों के लिए गौरव की बात है। इस तरह राज्य गठन के बाद अब 13वीं बार उत्तराखंड की झांकी राजपथ पर होने वाली परेड का हिस्सा बनेगी। पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने बताया कि आस्था का प्रतीक बदरीनाथ मंदिर, हेमकुंड साहिब, टिहरी डैम और ऐतिहासिक डोबरा-चांठी पुल उत्तराखंड की संस्कृति, परंपरा के साथ ही विकास को भी बयां करते हैं। झांकी के माध्यम से देशवासी उत्तराखंड की भव्यता और दिव्यता से भी रूबरू हो सकेंगे।

  • बदरीनाथ धाम: उत्‍तराखंड के चमोली जनपद में बदरीनाथ धाम स्थित है। यह देश के चारधामों में से एक है। बदरीनाथ को बदरी नारायण मंदिर भी कहा जाता है। यह मं‍दिर अलकनंदा नदी के तट पर है। यहां नर-नारायण विग्रह की पूजा अर्चना होती है। कहते हैं छह माह देव और छह माह मनुष्‍य भगवान विष्‍णु की पूजा करते हैं।
  • हेमकुंड साहिब: हेमकुंड साहिब चमोली जनपद में समुद्रतल से 15225 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। यह सिखों की आस्था का प्रमुख केंद्र हैं। हेमकुंड साहिब की तीर्थयात्रा रोमांच से भरी होती है। इसके आसपास कई खूबसूरत पर्यटन स्थल हैं, जो पर्यटकों का ध्यान अपनी ओर खींचते हैं।
  • टिहरी डेम: टिहरी डेम उत्‍तराखंड के टिहरी जिले में स्थित है। टिहरी झील करीब 42 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैली हुई है। बता दें कि टिहरी बांध में वर्ष 2006 में बिजली उत्पादन शुरू हुआ था, जो निरंतर जारी है।
  • डोबरा चांठी पुल : टिहरी झील पर देश के सबसे लंबे डोबरा-चांठी सस्पेंशन ब्रिज झूला पुल बना है। इसका निर्माण वर्ष 2006 में शुरू हुआ था। इस पुल का नया डिजाइन दक्षिण कोरिया की कंपनी योसीन ने तैयार किया था। यह पुल 16 टन भार के वाहन गुजरने की क्षमता के लिए तैयार किया गया है। इस पुल की कुल लंबाई 725 मीटर है। साथ ही इसमें सस्पेंशन ब्रिज 440 मीटर लंबा है।

Koo App

73वें गणतंत्र दिवस परेड में उत्तराखंड की आकर्षक झांकी सम्मिलित होगी। ’देवभूमि’ के निवासियों के लिए यह हर्ष एवं गौरव की बात है। चारधामों में से एक श्री बद्रीनाथ धाम, विश्व प्रसिद्ध टिहरी डैम, तीर्थस्थल श्री हेमकुंड साहिब, ऐतिहासिक डोबरा-चांठी पुल के मॉडल से सजी यह झांकी परेड की शोभा बढ़ाएगी। #uttarakhand #ourflagourpride #aazadikaamritmahotsav #NationalTourismDay2022 #RepublicDay2022

View attached media content

- Uttarakhand Tourism (@uttarakhand_tourismofficial) 20 Jan 2022

Edited By: Sunil Negi