राज्य ब्यूरो, देहरादून। Uttarakhand Assembly Elections 2022 आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर जनसंपर्क और संवाद को भाजपा मुख्य हथियार बनाएगी। इस सिलसिले में पार्टी महाभियान शुरू करने जा रही है, जिसके तहत भाजपा कार्यकर्त्ताओं की टोलियां गांवों की पगडंडियां नापती नजर आएंगी। वे गांव-गांव जाकर पार्टी की रीति-नीति के साथ ही केंद्र और राज्य सरकारों की उपलब्धियों की जानकारी आमजन को देंगी। इस रणनीति के पीछे भाजपा की प्रत्येक बूथ को और अधिक सशक्त बनाने की भी योजना है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के मुताबिक ऐसी योजना बन रही है और अगले माह की शुरुआत से इसे धरातल पर मूर्त रूप दिया जाएगा।

भाजपा का राष्ट्रीय नेतृत्व आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर निरंतर ही संवाद और जनसंपर्क का क्रम तेज करने पर जोर दे रहा है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने हाल में उत्तराखंड में हुई बैठकों में पार्टी के प्रांत से लेकर बूथ स्तर तक के कार्यकर्त्ताओं के मध्य निरंतर संवाद के निर्देश दिए थे। साथ ही जनता से संपर्क व संवाद के लिए मंत्री, विधायकों से लेकर प्रांत, जिला व मंडल स्तर तक के पार्टी पदाधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्रों में प्रवास के कार्यक्रम निर्धारित करने को कहा था।

यह सिलसिला पूरा होने के बाद हाल में पार्टी ने जनसंपर्क अभियान भी चलाया था। पार्टी सूत्रों के अनुसार उत्तराखंड दौरे पर आए केंद्रीय मंत्री एवं प्रदेश चुनाव प्रभारी प्रल्हाद जोशी ने भी चुनाव प्रबंधन के मद्देनजर पार्टी के 33 विभागों की समीक्षा के दौरान जनसंपर्क पर अधिक फोकस करने को कहा है। इस सबको देखते हुए अब पार्टी जनसंपर्क के लिए महाभियान शुरू करने जा रही है, जो चुनाव तक निरंतर चलता रहेगा।

यह भी पढ़ें- Uttarakhand Elections 2022: पीएम मोदी का उत्तराखंड दौरा तय, चार दिसंबर को देहरादून में होगी जनसभा; कर सकते हैं बड़ी घोषणाएं

इसकी रूपरेखा तैयार की जा रही है। योजना के तहत मंडल व बूथ स्तर तक के कार्यकर्त्ताओं की टोलियां निरंतर गांवों में जनसंपर्क में जुटेंगी। इस दौरान छोटी-छोटी बैठकें भी होंगी। महाभियान की निरंतर मानीटरिंग प्रदेश स्तर से की जाएगी।

यह भी पढ़ें- Uttarakhand Elections 2022: भाजपा प्रदेश प्रभारी लाकेट चटर्जी बोलीं, बंगाल जैसा न बने उत्तराखंड

Edited By: Raksha Panthri