देहरादून, [राज्य ब्यूरो]: 1986 बैच के वरिष्ठ आइएएस उत्पल कुमार सिंह राज्य का 15वें मुख्य सचिव बन गए। केंद्र सरकार ने प्रतिनियुक्ति खत्म कर उन्हें उत्तराखंड के लिए कार्यमुक्त कर दिया था। उन्होंने आज कार्यभार ग्रहण कर लिया है। 

सचिवालय में पदभार ग्रहण करने के बाद मुख्य सचिव ने सीएम का धन्यवाद किया। कहा कि वह राज्य के लिए समर्पित होकर काम करेंगे। कहा कि उनकी सेवा उत्तराखंड की पहाड़ियों से शुरू हुई थी, राज्य बनने के समय राज्य में ही था। राज्य में मिली जिम्मेदारियों का निर्वहन किया।

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड राज्य में विकास की अपार संभावनाएं है। यहां उन्नति विकास हो, इस दिशा में कार्य किये जाएंगे। आगामी तीन वर्षो में राज्य 20वी वर्षगांठ मनाएगा। साथ ही नए लक्ष्य निर्धारित किए जाएंगे। उत्पल कुमार सिंह मौजूदा मुख्य सचिव एस रामास्वामी की जगह ली। हालांकि रामास्वामी की तरह उत्पल कुमार सिंह 1986 बैच के ही आइएएस हैं, लेकिन वरिष्ठता क्रम में वह रामास्वामी से ऊपर हैं। इस तरह नया मुख्य सचिव बनने के साथ ही वह वर्तमान में सूबे में वरिष्ठतम आइएएस भी होंगे। 

केंद्रीय कृषि विभाग में अपर सचिव के रूप में कार्यरत रहे उत्पल कुमार सिंह को बीते रोज केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय में कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने उनके मूल उत्तराखंड कैडर के लिए कार्यमुक्त करने का आदेश जारी किया। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उन्हें उत्तराखंड के लिए कार्यमुक्त करने का अनुरोध केंद्र सरकार से किया था। केंद्र सरकार ने उनके अनुरोध को स्वीकार करते हुए उत्पल कुमार सिंह की केंद्रीय प्रतिनियुक्ति को निर्धारित समय से पहले समाप्त करने के आदेश जारी किए। 

बताया जा रहा है कि राज्य सरकार पर बेहतर परफॉर्म करने के दबाव के चलते मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को यह कदम उठाना पड़ा है। स्वच्छ छवि के उत्पल कुमार सिंह इससे पहले उत्तराखंड में प्रमुख सचिव रहते हुए लोक निर्माण, ऊर्जा, कार्मिक, उच्च शिक्षा, कृषि, गृह जैसे अहम महकमों का दायित्व संभाल चुके हैं। 

सिंह की गिनती सुलझे हुए अधिकारियों में की जाती है। सूबे के नौकरशाहों के बीच उनकी अच्छी पैठ मानी जाती है। मौजूदा मुख्य सचिव एस रामास्वामी के पास राजस्व परिषद के अध्यक्ष समेत उनके पद के समकक्ष अन्य जिम्मेदारियों बरकरार रखी जा सकती हैं। रामास्वामी ने 18 नवंबर, 2016 को मुख्य सचिव पदभार संभाला था। 

टीम भावना से काम करें अधिकारी


मुख्य सचिव पद का कार्यभार ग्रहण करने के बाद श्री उत्पल कुमार सिंह ने शासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने अधिकारियों से टीम भावना से कार्य करने का आह्वान किया। उन्होंने एसडीएम रानीखेत से डीएम नैनीताल तक और शासन में विभिन्न महत्वपूर्ण विभागों में अपने उत्तराखंड राज्य में 12 वर्षों के कार्यकाल का जिक्र करते हुए कहा कि वह राज्य की बुनियादी समस्याओं से परिचित हैं। खुले दिमाग से इन समस्याओं को चिह्नित कर उन्हें दूर करना है।

नवनियुक्त मुख्य सचिव ने कहा कि अगले तीन साल में राज्य अपनी स्थापना के बीस वर्ष पूरा कर लेगा। हमें 2020 तक का लक्ष्य तय करना है। उन्होंने अधिकारियों से अपेक्षा की कि लोगों के जीवन की बेहतरी के लिए मिलजुल कर कार्य करना है। इसके साथ ही फ्लैगशिप कार्यक्रमों की गति में और तेजी लानी है।
संकल्प से सिद्धि के तहत तय किये गये लक्ष्यों को हासिल करना है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य, शिक्षा, कौशल विकास, डिजिटल इंडिया सहित विभिन्न विभागों की समीक्षा करेंगे। अधिकारी विचार करें कि वे अपने विभाग में कौन-कौन नवाचारी (इनोवेटिव) कार्य कर सकते हैं।

बैठक में अपर मुख्य सचिव डॉ. रणवीर सिंह, श्री ओम प्रकाश, प्रमुख सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी, श्रीमती मनीषा पंवार, श्री आनंद वर्धन, सचिव श्री अमित नेगी, श्री हरवंश सिंह चुघ, श्री डी सैंथिल पांडियन, श्री आर.मीनाक्षी सुंदरम, श्री अरविंद सिंह ह्यांकी सहित सभी सचिव, अपर सचिव उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें: डाक टिकटों पर पहली बार रामायण के प्रसंगों का किया गया सुंदर वर्णन

यह भी पढ़ें: अब मोबाइल से कटेंगे वाहन चालकों के चालान

यह भी पढ़ें: आपका स्मार्ट फोन बताएगा फल अच्छे हैं या खराब, जानिए कैसे

 

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस