राज्य ब्यूरो, देहरादून। महिलाओं को शिक्षा, उद्यमशीलता, रोजगार व सशक्तीकरण में सहायता देने के लिए भाजपा महिला मोर्चा ने '4-ई केंद्र' योजना शुरू की है। भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में भाग लेने आई केंद्रीय रेल एवं टेक्सटाइल राज्य मंत्री दर्शना जरदोश ने सोमवार को देहरादून में यह योजना लांच की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि देशभर में प्रत्येक भाजपा कार्यालय में ये केंद्र खोले जाएंगे, ताकि महिलाओं को उनके अधिकारों को जानने और उनकी आकांक्षाओं व सपनों को पूरा करने में मदद मिल सके।

स्थानीय एक होटल में 4-ई केंद्र की लांचिंग करते हुए केंद्रीय राज्य मंत्री जरदोश ने कहा कि पार्टी की यह महिला केंद्रित पहल है। यह दूरदराज के क्षेत्रों की महिलाओं तक पहुंचने पर ध्यान केंद्रित करती है। साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में बालिकाओं, महिलाओं की अनभिज्ञता एवं तमाम बाधाओं को समझती व महसूस करती है। उन्होंने कहा कि ये केंद्र महिलाओं की दिनचर्या से लेकर शिक्षा और करियर पथ के लिए सहायता व मार्गदर्शन का काम करेंगे। इनमें हर उस क्षेत्र में परामर्श और मार्गदर्शन मिलेगा, जहां महिलाओं के विकास और प्रगति में बाधा आती है।

उन्होंने कहा कि इन केंद्रों में शिक्षा, रोजगार, उद्यमिता व सशक्तीकरण पर फोकस कर इनसे संबंधित केंद्र एवं राज्य सरकारों की महिला केंद्रित योजनाओं की जानकारी दी जाएगी। उन्होंने कहा कि हम लड़कियों को सहायता प्रदान कर शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करना चाहते हैं। इसके लिए विद्यालक्ष्मी पोर्टल में पंजीकरण, मोदी की बेटी कार्यक्रम में नामांकन और बीपीएल परिवार की लड़कियों के लिए 10वीं कक्षा तक की अध्ययन सामग्री प्रदान करने में सहायता दी जाएगी।

इसी तरह रोजगार के लिए नियोक्ताओं के साथ जुड़कर संभावित कर्मचारियों को उनके साथ जोडऩे के लिए प्लेटफार्म उपलब्ध कराया जाएगा। उद्योगों के साथ समन्वय और स्किल इंडिया पोर्टल पर नामांकन कर महिलाओं को रोजगार के अवसर मुहैया कराने का प्रयास किया जाएगा। इसके साथ ही स्वरोजगार के लिए मुद्रा, स्टार्टअप व स्टैंड अप जैसी योजनाओं से जोड़ने के अलावा वित्तीय सहायता के लिए मार्गदर्शन दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इन केंद्रों में महिला अधिकारों, सुरक्षा समेत अन्य विषयों पर परामर्श और कानूनी सहायता प्रदान की जाएगी।

केंद्रीय राज्यमंत्री ने कहा कि महिला मोर्चा स्वयंसेवकों की सहायता से प्रत्येक भाजपा कार्यालय में इन केंद्रों को संचालित किया जाएगा। स्वयंसेवकों के माध्यम से जनजागरूकता अभियान भी चलाया जाएगा। उन्होंने बताया कि महिला मोर्चा प्र्रत्येक राज्य के स्वयंसेवकों के लिए कार्यशाला आयोजित करने के साथ ही वेब व मोबाइल आधारित डिजिटल प्लेटफार्म का प्रबंधन कर तमाम विभागों व मंत्रालयों से जुड़ेगा। राज्य महिला मोर्चा को योजना के लिए बुनियादी ढांचा उपलब्ध कराया जाएगा। इस मौके पर भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री एवं मोर्चा प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम, मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष वनाथी श्रीनिवासन समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

यह भी पढ़ें:-आगामी चुनावों में महिलाओं को मिलेगा ज्यादा प्रतिनिधित्व, विस चुनावों में भाजपा की जीत को जुटेगा मोर्चा

Edited By: Sunil Negi