राज्‍य ब्‍यूरो, देहरादून। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह गुरुवार को उत्तराखंड के आपदा प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण कर आपदा से हुए नुकसान का जायजा लेंगे। इसके बाद वह जौलीग्रांट एयरपोर्ट स्थित राज्य अतिथि गृह में अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। इसमें मुख्यमंत्री समेत तमाम आला अधिकारी मौजूद रहेंगे। 

प्रदेश में रविवार से अतिवृष्टि व भूस्खलन के कारण बड़े पैमाने पर जानमाल को नुकसान पहुंचा है। आपदा में 50 से अधिक व्यक्तियों की जान गई है तो बड़े पैमाने पर सार्वजनिक संपत्ति को क्षति पहुंची है। आपदा के बाद से ही केंद्र सरकार राज्य की स्थिति पर निगाह बनाए हुए है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह इसका लगातार अपडेट ले रहे हैं। साथ ही राज्य को आपदा से निपटने के लिए केंद्र से हर संभव सहायता दी जा रही है। अब केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह स्वयं उत्तराखंड में आपदा का जायजा लेने के लिए पहुंच गए हैं। 

वह बुधवार देर रात गुजरात से रवाना होकर देहरादून पहुंचें।  सुबह पौने दस बजे वह जीटीसी हेलीपैड से हवाई सर्वेक्षण के लिए रवाना होंगे। तकरीबन पौने दो घंटे तक आपदा प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करने के बाद वह साढ़े ग्यारह बजे जौलीग्रांट एयरपोर्ट के राज्य अतिथि गृह पहुंचेंगे।

यहां वह एक घंटे अधिकारियों के साथ बैठक कर विभिन्न मसलों पर चर्चा करेंगे। माना जा रहा है कि इस दौरान वह अधिकारियों को आपदा से हुए नुकसान पर चर्चा करने के साथ ही व्यवस्था दुरुस्त करने के संबंध में दिशा-निर्देश देंगे। दोपहर में वह जौलीग्रांट एयरपोर्ट से ही दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे।

केदारनाथ में ठंड से साधु की मौत

रुद्रप्रयाग में केदारनाथ में पिछले 15 साल से निवास कर रहे बाबा दंडी भारती की मंगलवार सुबह ठंड से मौत हो गई। केदारनाथ में ही अपराह्न 11 बजे साधु दंडी भारती को साधु संत समाज, तीर्थपुरोहित, पुलिस, प्रशासन, एसडीआरएफ और वाईएमएफ के जवानों ने जल समाधि दी। बाबा दंडी भारती बीते 15 साल से केदारनाथ धाम में रह रहे थे। इधर, बाबा दंडी भारती के निधन पर केदारनाथ तीर्थपुरोहित, साधु संत समाज ने गहरा दुख व्यक्त किया है। तीर्थपुरोहित व देवस्थानम बोर्ड के सदस्य श्रीनिवास पोस्ती ने कहा कि बाबा दंडी भारती की केदार बाबा के प्रति गहरी आस्था थी।

यह भी पढ़ें:- Disaster in Uttarakhand: उत्‍तराखंड में बचाव एवं राहत कार्यों में सेना व वायुसेना ने भी संभाला मोर्चा

Edited By: Sunil Negi