जागरण संवाददाता, देहरादून : समूह ग के रिक्त 854 पदों के लिए हुई लिखित भर्ती परीक्षा में सामान्य ज्ञान व तार्किक शक्ति से संबंधित प्रश्न अभ्यर्थियों को बेहद सरल लगे। जिससे परीक्षा की मेरिट ऊपर जाने की संभावना है। इन रिक्त पदों के लिए प्रदेशभर में एक लाख, 46 हजार दो अभ्यर्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए।

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने विभिन्न 13 विभागों में रिक्त 854 रिक्त पदों के लिए करीब एक वर्ष पहले विज्ञप्ति जारी की थी। इन रिक्त पदों के सापेक्ष दो लाख 16,519 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। कोरोना संक्रमण की पहली एवं दूसरी लहर के कारण परीक्षा करीब एक साल विलंब से हुई। चार एवं पांच दिसंबर को यह परीक्षा तीन पालियों में आयोजित की गई। आयोग के सचिव संतोष बडोनी ने कहा कि चार दिसंबर को शाम तीन से पांच बजे के बीच आयोजित परीक्षा के लिए 161 परीक्षा केंद्रों बनाए गए थे।

जिनमें 63470 अभ्यर्थियों ने प्रतिभाग किया। रविवार को सुबह 10 से 12 बजे के बीच आयोजित परीक्षा के लिए 191 केंद्र बनाए गए थे, इन केंद्रों में 77,578 अभ्यर्थियों ने परीक्षा में भाग लिया। दोपहर बाद दो से चार बजे के बीच अंतिम पाली की परीक्षा प्रदेश के 188 केंद्रों पर हुई जिसमें 75,471 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी। इस प्रकार तीनों पालियों में परीक्षा देने वाले अभ्यर्थी 67.43 प्रतिशत रहे। आयोग के सचिव ने कहा कि शीघ्र ही आयोग की वेबसाइट पर परीक्षा की उत्तरकुंजी का प्रकाशन किया जाएगा। साथ ही अभ्यर्थियों को प्रश्नों पर चुनौती का भी अवसर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें- देहरादून में सीबीएसई बोर्ड और समूह ग भर्ती परीक्षार्थियों पर भारी पड़ा जीरो जोन

इनका कहना है

माता मंदिर मार्ग निवासी अभ्‍यर्थी पंकज नौटियाल ने बताया कि रविवार को दूसरी पाली में मेरा पेपर डीएवी पीजी कालेज करनपुर के ए ब्लाक में हुआ। प्रश्न पत्र में उत्तराखंड से संबंधित सामान्य ज्ञान व तार्किक प्रश्न आसान लगे। सौ में से 98 प्रश्न मैंने दो घंटे में हल किए।

नेहरू कालोनी निवासी आरती शर्मा ने बताया कि समूह ग की लिखित भर्ती परीक्षा में रविवार को जो सौ प्रश्न पूछे गए उनमें से ज्यादातर सवाल सामान्य व सरल लगे। विशेषकर उत्तराखंड की भौगोलिक स्थित, सामान्य जानकारी भी ठीक थी। तार्किक सवाल भी बहुत अधिक पेचीदा नहीं लगे।

गीतांजलि एन्क्लेव, दून के राकेश शाह ने बताया कि समूह ग की लिखित परीक्षा मैंने रविवार को दूसरी पाली में हरिद्वार के एक परीक्षा केंद्र में दी। दो घंटे में सौ प्रश्न हल करने थे। प्रश्न पत्र में सामान्य ज्ञान व तार्किक के सवाल अधिक फंसाने वाले नहीं रहे। पेपर सामान्य लगा।

यह भी पढ़ें- दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेसवे पर एलिवेटेड रोड से सुगम होगा आमजन का सफर