देहरादून, जेएनएन। उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय से संबद्ध निजी आयुष कॉलेजों की मनमानी के खिलाफ अब उत्तराखंड क्रांति दल (उक्रांद) ने उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है। दल के जिलाध्यक्ष विजय बौड़ाई ने केंद्रीय कार्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता में कहा कि यदि निजी कॉलेजों ने फीस पर अपना रवैया नहीं बदला तो कार्यकर्ता धरना-प्रदर्शन कर राजभवन कूच करेंगे। 

उन्होंने यह मांग की है कि कॉलेजों की बढ़ती मनमानी पर अंकुश लगाने के लिए राजभवन हस्तक्षेप करे। ताकि छात्र-छात्राओं को बढ़ी हुई फीस का भुगतान न करना पड़े और उनका भविष्य भी सुरक्षित रहे। 

उन्होंने कहा कि आयुर्वेद विवि से संबद्ध निजी कॉलेज मनमानी व पर उतारू हैं। कॉलेजों को उच्च न्यायालय के आदेशों की भी परवाह नहीं है। कॉलेज प्रशासन न्यायालय के आदेश की अवहेलना कर छात्र-छात्राओं से बढ़ा हुआ शुल्क वसूल रहे हैं। जिसके खिलाफ तमाम छात्र-छात्राएं पिछले एक सप्ताह से हर्रावाला स्थित आयुर्वेद विश्वविद्यालय के गेट पर आंदोलन कर रहे हैं। 

कहा कि उक्रांद पूरी तरह छात्रों के आंदोलन के साथ खड़ा है। उन्होंने कहा कि आयुर्वेद विश्वविद्यालय से संबद्ध निजी कॉलेजों में घोर अनियमितताएं बरती जा रही हैं। सरकार व विश्वविद्यालय प्रबंधन द्वारा इन इनकी मनमानी पर अंकुश लगाने के लिए कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। इससे जाहिर होता है कि कहीं न कहीं राज्य सरकार का संरक्षण भी कॉलेज संचालकों को प्राप्त है। लगातार शुल्क में बढ़ोत्तरी कर छात्र-छात्राओं का उत्पीडऩ किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि पिछले साल मनमाने ढंग से बीएएमएस व बीएचएमएस के शुल्क में दोगुना से अधिक की बढ़ोत्तरी कर दी गई थी। जिसके खिलाफ छात्र व अभिभावक नैनीताल उच्च न्यायालय की शरण में गए। उच्च न्यायालय ने आदेश जारी किया था कि छात्रों से पुरानी ही फीस ली जाए, लेकिन निजी कॉलेज इस आदेश की भी नाफरमानी कर रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: ज्वालापुर विधायक का विवादित बयान, विधानसभा के मुस्लिम बहुल क्षेत्र को बताया पाकिस्तान

अब छात्रों पर बढ़ी हुई फीस जमा करने का दबाव बनाया जा रहा है। ऐसा नहीं करने पर छात्रों को परीक्षा फॉर्म भी नहीं भरने दिया जा रहा है। कहा कि निजी आयुष कॉलेजों की इस तरह की मनमानी का पुरजोर विरोध किया जाएगा। पत्रकार वार्ता में युवा नेता राजेंद्र बिष्ट, प्रमिला रावत आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आने वाले नहीं बिठा पा रहे संगठन में तालमेल

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप