देहरादून, जेएनएन। उत्तराखंड क्रांति दल ने मुरादाबाद को राज्य में शामिल होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है। उक्रांद ने समूह ग और ख में प्रदेश के बाहरी जिलों से भर्ती किए जाने के खिलाफ भी आंदोलन की बात कही है। 

उक्रांद के केंद्रीय अध्यक्ष दिवाकर भट्ट ने गुरुवार को कचहरी स्थित केंद्रीय कार्यालय में प्रेस वार्ता की। भट्ट ने कहा कि राज्य का शहीद स्थल गैरसैंण में बनाने, गैरसैंण को स्थायी राजधानी बनाने के लिए उग्र आंदोलन होगा। उन्होंने कहा कि राज्य में बाहरी जिलों की एक इंच जमीन न जुडऩे दी और न कम होने दी जाएगी। भट्ट ने कहा कि राज्य बनने के 20 सालों में 10-10 साल भाजपा कांग्रेस ने शासन किया लेकिन इनकी सोच आंदोलन के खिलाफ रही। अब इसके खिलाफ निर्णायक आंदोलन छेड़ा जाएगा। इस बाबत 22 अक्टूबर को बैठक की जाएगी।

यह भी पढ़ें: सड़क पर जाम लगाने के मामले में कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडेय बोले, कोर्ट का हर आदेश होगा मान्य

उक्रांद ने की कार्यकारिणी विस्तार 

केंद्रीय अध्यक्ष दिवाकर भट्ट ने कार्यकारिणी का विस्तार किया है। कार्यकारिणी में डीके पाल केंद्रीय महामंत्री, प्रहलाद सिंह रावत केंद्रीय कोषाध्यक्ष, संजय छेत्री मीडिया प्रभारी, प्रताप कुंवर संगठन मंत्री, धर्मेंद्र कठैत एवं उत्तम रावत केंद्रीय मंत्री, गीता बिष्ट राजधानी निर्माण समिति संयोजक, महेंद्र रावत संगठन प्रभारी पौड़ी, नैनीताल लोस प्रभारी केएल आर्य, सहायक मंत्री प्रताप बनाया गया है। 

यह भी पढ़ें: किटी कमेटी संचालकों के खिलाफ इंटक का प्रदर्शन, डीएम ने सौंपी जांच Dehradun 

 

Posted By: Sunil Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप