देहरादून, जेएनएन। विश्वविद्यालय व महाविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर व जूनियर रिसर्च फैलोशिप (जेआरएफ) के लिए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) नेट परीक्षा दो से छह दिसंबर तक होगी। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) की ओर से इस परीक्षा का आयोजन किया जाएगा। यूजीसी ने परीक्षा के एडमिट कार्ड नौ नवंबर को वेबसाइट पर जारी कर दिए हैं, जिसे अभ्यर्थी परीक्षा की तिथि से एक दिन पूर्व तक डाउनलोड कर सकते हैं। परीक्षा परिणाम 31 दिसंबर को जारी होंगे। 

दून विवि के कुलपति डॉ. सीएस नौटियाल ने बताया कि जिन अभ्यर्थियों ने असिस्टेंट प्रोफेसर व जेआरएफ के लिए आवेदन किया है, वह अपने प्रवेश पत्र यूजीसी की वेबसाइट से ऑनलाइन डाउनलोड कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि दून विश्वविद्यालय उत्तराखंड में यूजीसी के प्रोग्राम की गतिविधियों से अधिकारिक रूप से जुड़ा है। 

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) यूजीसी व सीएसआइआर नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट (नेट) के लिए आवेदन देशभर से हुए हैं। परीक्षा से पहले एजेंसी उम्मीद्वारों को अपने आवेदन में सुधार करने के लिए मौका देती है। अभ्यर्थी एनटीए की अधिकारिक वेबसाइट nta.ac.in पर जाकर आवेदन में बदलाव कर सकते हैं।  

यह है परीक्षा का पैटर्न

परीक्षा की अधिसूचना के अनुसार एनटीए की ओर से इस साल से नेट परीक्षा कंप्यूटर आधारित मोड पर होगी। परीक्षा के जरिये जूनियर रिसर्च फेलोशिप (जेआरएफ), केमिकल साइंसेज, अर्थ / एटमॉस्फेरिक/ ऑप्शन / प्लेनेटरी साइंस, लाइफ साइंस, मैथमेटिकल साइंस, फिजिकल साइंसेज में सफल होने वाले अभ्यर्थियों को प्रवक्ताओं के रूप में नियुक्ति मिलती है।

जून में हुई परीक्षा में रेकॉर्ड छात्र सफल 

दून विवि के कुलपति डॉ. सीएस नौटियाल ने बताया कि यूजीसी के इतिहास में पहली बार इस वर्ष बीते जून माह में आयोजित यूजीसी-नेट परीक्षा में कैंपिंग से छह फीसदी से अधिक अभ्यर्थियों ने सफलता प्राप्त की। 

पहली बार असिस्टेंट प्रोफेसर में छह व जेआरएफ में 18.9 फीसदी अधिक अभ्यर्थी सफल हुए। कुल 6,81,718 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी थी, जिसमें 60,457 सफल रहे। सामान्य वर्ग के लिए क्वालिफाई कटऑफ 40 फीसदी व आरक्षित वर्ग के लिए 35 फीसदी थी। यूजीसी नेट परीक्षा में शामिल कुल अभ्यर्थियों की संख्या के आधार पर छह फीसदी की कैंपिंग है। इसी के तहत 55,129 अभ्यर्थी पास होने चाहिए थे। यूजीसी नेट की जून माह की परीक्षा में 60,457 अभ्यर्थी सफल हुए। 

यह भी पढ़ें: CBSE Board Exam 2020: नए पैटर्न पर होंगे सीबीएसई के एग्जाम, इतने अंक लाने होंगे अनिवार्य

इनमें कैंपिंग के आधार पर असिस्टेंट प्रोफेसर में 51,129 अभ्यर्थी क्वालीफाई होने चाहिए थे, जबकि 55,701 सफल हुए। वहीं जूनियर रिसर्च फेलोशिप (जेआरएफ) में चार हजार क्वालिफाई होने चाहिए, जबकि 4,756 अभ्यर्थियों ने सफलता हासिल की। सामान्य वर्ग में 1713 और आरक्षित वर्ग में 1579 सफल रहे।

यह भी पढ़ें: दून में तैनात 102 शिक्षक चढ़ेंगे पहाड़, ऐसे शिक्षकों की सूची जारी 

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप