जागरण संवाददाता, ऋषिकेश: राष्ट्रपति की परमार्थ निकेतन आगमन पर उनकी सुरक्षा और अन्य व्यवस्था में जुटे 19 लोग के एक रोज पूर्व संक्रमित पाए जाने के बाद सोमवार को नगर पंचायत जौंक के एक सफाई कर्मचारी की रिपोर्ट भी पाजिटिव आई है। इसके अतिरिक्त नरेंद्र नगर क्षेत्र में एक बुजुर्ग महिला की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। पिछले तीन महीने से बंद कोविड केयर सेंटर मुनिकीरेती और स्वर्गाश्रम के सेंटर को फिर से खोल दिया गया है।

राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द बीते रविवार को परमार्थ निकेतन में आए थे। उनकी सुरक्षा व अन्य व्यवस्था में पुलिसकर्मियों सहित अन्य विभागीय कर्मचारियों को लगाया गया था। स्वास्थ्य विभाग की ओर से ड्यूटी पर आए सभी कार्मिकों की कोरोना जांच की गई थी। जिसमें कुल 19 लोग की रिपोर्ट पाजिटिव आई थी। कर्मियों के संक्रमित पाए जाने के बाद प्रशासन अलर्ट हो गया है। लक्ष्मण झूला और स्वर्गाश्रम क्षेत्र में बाहर से आने वाले पर्यटकों की सीमा चेक पोस्ट पर जांच की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग के नोडल अधिकारी डा. राजीव कुमार ने बताया कि राष्ट्रपति की ड्यूटी में तैनात नगर पंचायत के एक सफाई कर्मचारी की रिपोर्ट सोमवार को पाजिटिव आई है। सोमवार को 250 व्यक्तियों की आरटी पीसीआर जांच की गई। इनमें 40 व्यक्ति ऐसे हैं जो परमार्थ निकेतन और गीता भवन आसपास क्षेत्र के हैं, जो राष्ट्रपति के कार्यक्रम में शामिल हुए थे। जबकि 210 व्यक्ति ऐसे हैं जो बाहर से क्षेत्र में आए हैं। उन्होंने बताया कि गीता भवन स्थित कोविड केयर सेंटर को खोल दिया गया है। यहां वर्तमान में चार संक्रमित भर्ती है। उधर, मुनिकीरेती के गढ़वाल मंडल विकास निगम ऋषि लोक अतिथि गृह में कोविड सेंटर बनाया गया था, जो पिछले तीन महीने से बंद था। इसे भी फिर से खोल दिया गया है। यहां एक मरीज भर्ती है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक नकोट चंबा निवासी एक 80 वर्षीय बुजुर्ग महिला नरेंद्र नगर में अपनी पुत्री के यहां रह रही थी। उनकी बुखार की शिकायत पर कोरोना जांच की गई तो उनकी रिपोर्ट पाजिटिव आई है। उधर, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश में ऋषिकेश निवासी एक 24 वर्षीय युवती दो दिन पूर्व संक्रमित हुई थी जिसका उपचार एम्स में चल रहा है। महानिदेशक स्वास्थ्य डा. तृप्ति भट्ट ने सभी मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र की सीमा पर बने चेक पोस्ट पर बाहर आने वाले यात्रियों की जांच करने के आदेश दिए गए हैं। मुनिकीरेती क्षेत्र में स्थित चेक पोस्ट पर अभी टीम की तैनाती नहीं हुई है। जबकि यहां बड़ी संख्या में बाहर से यात्री आ रहे हैं। एसपीएस राजकीय चिकित्सालय से संबंधित सार्वजनिक स्थल के जांच केंद्र की स्थिति भी ठीक नहीं है सिर्फ राजकीय चिकित्सालय परिसर में स्थित सेंटर में जांच हो रही है। इसके अतिरिक्त त्रिवेणी घाट, बस अड्डा, रेलवे स्टेशन सभी जगह जांच कार्य ठप है।

Edited By: Jagran