जागरण संवाददाता, देहरादून। त्योहारी सीजन के चलते शहर में यातायात दबाव खासा बढ़ गया है, लेकिन सड़कों की क्षमता कम होने के कारण शहरवासियों को जाम से जूझना पड़ रहा है। खासकर सुबह और शाम के समय शहर के प्रमुख मार्गों पर वाहन रेंगकर चल रहे हैं। हालांकि, पुलिस की ओर से यातायात व्यवस्था दुरुस्त करने को तमाम प्रयास किए जा रहे हैं, लेकिन धरातल पर यह प्रयास नाकाफी साबित हो रहे हैं।

पीक आवर्स में शहर के प्रमुख मार्गों पर जाम ही स्थिति कोई नई बात नहीं है, लेकिन इन दिनों त्योहारी सीजन के चलते जाम की समस्या गहरा गई है। गुरुवार को खासकर सहारनपुर चौक, आढ़त बाजार, प्रिंस चौक, तहसील चौक, घंटाघर, आराघर से रिस्पना पुल और हरिद्वार बाईपास पर वाहन घंटों रेंगकर चलते रहे। यही नहीं शास्त्रीनगर से मोहकमपुर तक भी लोग जाम से हलकान रहे। प्रमुख बाजार को जाने वाले मार्गों पर जाम से बचने के लिए वाहन सवारों ने गलियों का सहारा लिया तो वहां भी उन्हें जाम से दो-चार होना पड़ा।

उधर, पुलिस की ओर से व्यवस्था बनाने के दावे भी हवा होते दिखे। शहर के ज्यादातर चौक-चौराहों पर ट्रैफिक मनमाफिक रेंगता नजर आया। पुलिस के मुताबिक दीपावली के मद्देनजर शहर में यातायात के दबाव को नियंत्रित करने के लिए ठोस योजना बनाई गई है। इसे धरातल पर उतारने का प्रयास किया जा रहा है।

एसपी ट्रैफिक स्वप्न सिंह किशोर का कहना है कि त्योहारी सीजन में यातायात का दबाव बढ़ जाता है। इसे ध्यान में रखते हुए शहर में पर्याप्त संख्या में पुलिस बल को सड़कों पर तैनात किया जा रहा है। साथ ही उपलब्ध संसाधनों के हिसाब से डायवर्जन और रूट प्लान तैयार किया गया है। शुक्रवार से ही शहर में यातायात को संतुलित करने का प्रयास रहेगा।

यह भी पढें- रक्षाबंधन से एक दिन पहले शहर से हाइवे तक जाम, जनता घंटों रही हलकान; नहीं दिखा कोई प्लान