देहरादून, जेएनएन। पलटन बाजार में फड़-ठेली वालों के खिलाफ लगातार हो रही कार्रवाई को लेकर व्यापारियों का गुस्सा फूट पड़ा। दर्जनों व्यापारी कोतवाली पहुंचे और हंगामा करने लगे। कुछ व्यापारी लॉकअप के पास बैठ गए और गिरफ्तार कर जेल भेजने की मांग करने लगे। हंगामे की सूचना मिलने पर एसपी सिटी श्वेता चौबे व अन्य अधिकारी मौके पर पहुंच गए और किसी तरह समझा-बुझा कर शांत कराया। 

गौरतलब है कि पुलिस ने पलटन बाजार को पूरी तरह से अतिक्रमण मुक्त करा दिया। फिर भी आए दिन यहां फड़-ठेली वालों का जमावड़ा लगने के साथ स्थानीय दुकानदार भी सामान को बाहर रख दे रहे हैं। इसे लेकर पुलिस लगातार कार्रवाई भी कर रही और अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ पुलिस एक्ट में चालान भी काट रही है। 

इधर नवरात्र शुरू होने के बाद व्यापारियों काम-धंधे को बढ़ाना शुरू किया तो फड़-ठेली वालों की संख्या भी शाम के वक्त बढ़ने लगी। इससे एक बार फिर पलटन बाजार में जाम की स्थिति पैदा होने लगी। 

इस पर कोतवाली पुलिस ने यहां कार्रवाई करनी शुरू की तो व्यापारी उग्र हो गए। दर्जनों की संख्या में नारेबाजी करते हुए व्यापारी कोतवाली पहुंच कर नारेबाजी करने लगे। व्यापारियों का आरोप था कि पुलिस उनके खिलाफ बेवजह कार्रवाई कर रही है। त्योहारी सीजन चल रहा है, इस समय यदि वह दुकान को सजाएंगे और बढ़ाएंगे नहीं तो कमाई कैसे होगी। 

इस दौरान कई व्यापारी कोतवाली के लॉकअप में भी घुस गए और पुलिस पर उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजने के लिए दबाव बनाने लगे। पुलिस ने इसकी सूचना उच्चाधिकारियों को दी, जिसके बाद एसपी सिटी मौके पर पहुंचीं और व्यापारियों को समझा-बुझा कर शांत कराया।

यह भी पढ़ें: दून में 75 अतिक्रमण ध्वस्त, 89 भवन स्वामियों को नोटिस जारी Dehradun News

दन के एसएसपी अरुण मोहन जोशी के अनुसार, पलटन बाजार और शहर में अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। इसका उद्देश्य प्रमुख बाजारों और शहर को जाम से मुक्त कराना है। पुलिस अतिक्रमणकारियों के विरोध में है, न कि व्यापारियों के। 

यह भी पढ़ें: दून में कांवली और हरिद्वार रोड पर 130 अतिक्रमण ध्वस्त Dehradun News

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस