देहरादून, जेएनएन। शहरभर के व्यापारियों के प्रतिनिधिमंडल ने महापौर सुनील उनियाल गामा से मिलकर नगर निगम की ओर से पहली बार शुरू की जा रही लाइसेंस फीस का कड़ा विरोध किया। व्यापारियों ने इसे व्यापारी वर्ग के लिए उत्पीड़न बताया।

शहर के विभिन्न व्यापार संगठनों ने बैठक की। इसके बाद संयुक्त प्रस्ताव बनाकर नगर निगम में महापौर से मिले। दून उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष विपिन नागलिया व प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल के जिला अध्यक्ष सुरेंद्र प्रभाकर ने बताया कि मंदी की मार से पहले ही व्यापारी त्रस्त हैं। जीएसटी के बाद छोटे व्यापारियों के सालाना खर्चे में वृद्धि होने से उनकी लागत निकलना भी मुश्किल हो रहा है। इसके अलावा व्यापारियों को बड़े-बड़े मॉल व विदेशी स्टोरों के आगे प्रतिस्पर्धा में न टिक पाने का डर सता रहा है।

अब नगर निगम व्यापारियों पर और आर्थिक बोझ लादने की तैयारी कर चुका है। स्मार्ट सिटी के नाम पर व्यापारियों को और कितनी परेशानी ङोलनी पड़ेगी इसे लेकर भी वे चिंतित हैं। उन्होंने कहा कि व्यापारी अलग-अलग पार्टियों से बेसक जुड़े हैं, लेकिन इस प्रकार के नगर निगम के निर्णय के खिलाफ सभी व्यापारी एकजुट हैं। उन्होंने नगर निगम से इस निर्णय को तत्काल वापस लेने की मांग की।

वहीं, महापौर सुनील उनियाल गामा ने व्यापारियों को आश्वासन दिया कि इस संदर्भ में नगर निगम व्यापारियों के साथ बैठक कर इस बारे में विचार-विमर्श करेगा। उधर, नगर आयुक्त विनय शंकर पांडे ने कहा कि व्यापारी लाइसेंस फीस को लेकर अपनी राय नगर निगम को दें। जिससे इस पर आगे विचार किया जा सके। इस मौके पर दून उद्योग व्यापार मंडल के महामंत्री सुनील मैसोन, उपाध्यक्ष डीडी अरोड़ा, बृजलाल बंसल, युवा व्यापार मंडल के अध्यक्ष मीत अग्रवाल, श्रीकृष्ण गुप्ता, गौरव गोस्वामी, पीयूष मौर्य आदि मौजूद रहे।

शहर में स्ट्रीट लाइटों पर टाइमर लगाए विद्युत विभाग: महापौर

महापौर सुनील उनियाल गामा ने नगर निगम और विद्युत विभाग के अधिकारियों की बैठक लेते हुए कहा कि नगर निगम सीमा के अंतर्गत स्ट्रीट लाइटों पर टाइमर लगाए जाएं। साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में डबल फेज वायर डाले जाएं, ताकि वहां कम वोल्टेज की समस्या न रहे।

बैठक में नगर निगम के सहायक अभियंता वेदप्रकाश बधानी ने बताया कि हर्रावाला क्षेत्र में नगर निगम की लगाई स्ट्रीट लाइटों को विद्युत विभाग ने उतार दिया है। निगम के प्रकाश निरीक्षक रंजीत सिंह राणा ने बताया कि महंत इंदिरेश अस्पताल के पीछे भी लाइटों को उतार दिया गया है। कुछ इलाकों में नगर निगम की केबल भी विद्युत विभाग ने खंभों से उतार दी है, जिससे स्ट्रीट लाइट की विद्युत आपूर्ति बाधित है।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस नेताओं ने आंगनबाडी कार्यकर्ताओं के आंदोलन को दिया समर्थन Dehradun News

उधर, विद्युत विभाग के अधिकारियों ने कहा कि खंभे बदलने से लेकर अन्य मरम्मत कार्य के बाद दोबारा केबल तार को जोड़ दिया जाएगा। विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियंता शैलेंद्र सिंह ने बताया कि शहर में स्ट्रीट लाइटों की संख्या बढ़ती जा रही है, जिससे टाइमर काम नहीं कर रहे हैं। इसी के चलते दिन में भी कई गलियों में लाइटें जलती रहती हैं। महापौर ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह इस बारे में नगर निगम को प्रस्ताव भेंजे जिस पर विचार किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: बीमार हालत में अनशन पर डटीं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता Dehradun News

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस