देहरादून, जेएनएन। उत्तराखंड में लगातार हो रही बारिश और बर्फबारी से ठंड में काफी इजाफा हुआ। हालांकि शुक्रवार को मौसम साफ रहने से लोगों ने कुछ हद तक राहत महसूस की। सुबह से ही धूप खिली रही। मौसम विभाग के अनुसार शनिवार का दिन भी राहत भरा रहेगा, लेकिन रविवार से मौसम फिर करवट बदल सकता है।जहां एक ओर बर्फबारी से स्थानीय लोग परेशान रहे, वहीं पर्यटकों के चेहरे खिले नजर आए। बर्फबारी के बाद से ही प्रसिद्ध पर्यटन स्थल औली में पर्यटकों की भीड़ उमड़ने लगी है। 

प्रदेश में शुक्रवार को मौसम के तेवर कुछ हल्के पड़े। बारिश न होने और धूप खिलने से लोगों ने राहत महसूस की। हालांकि ठंडी हवाओं से मौसम में ठंडक बनी रही। हालांकि रविवार से पहले तक मौसम साफ रहेगा, लेकिन रविवार से मौसम के तेवर तल्ख हो सकते हैं। वहीं, इससे पहले गुरुवार को बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के साथ ही पहाड़ों में हिमपात हुआ, तो मैदानों में रुक-रुक कर बारिश का क्रम जारी रहा। मसूरी के पास धनोल्टी और नागटिब्बा की पहाड़ियों पर मौसम का पहला हिमपात हुआ। 

यह भी पढ़ें: वेस्टर्न डिस्टरबेंस के चलते केदारनाथ समेत चार धाम में हुई बर्फबारी, बढ़ी ठिठुरन

औली में बर्फ का लुत्फ उठाने के लिए उमड़ी पर्यटकों की भीड़  

चमोली जिले का प्रसिद्ध पर्यटक स्थल औली पर्यटकों से गुलजार है। बर्फबारी के बाद से ही पर्यटक बड़ी तादाद में यहां का रुख कर रहे हैं। औली की खूबसूरत ढलाने उन्हें बरबस ही यहां खींच रही है। बर्फ से ढकी यहां की वादियां देख पर्यटक बेहद उत्साहित नजर आ रहे हैं। साथ ही यहां की तस्वीरों को अपने कैमरे में कैद करने से नहीं चूक रहे हैं। औली में पर्यटकों की बढ़ती तादाद देखकर व्यवसायियों के चेहरे भी खिल उठे हैं। 

सर्दी से बचने को धूप सेकते रहे लोग 

टिहरी में गुरुवार को ऊंचाई वाले स्थानों में बर्फबारी होने से जिले में सर्दी का प्रकोप बढ़ गया था, लेकिन शुक्रवार सुबह को धूप निकलने से सर्दी से राहत मिली और दिनभर लोग धूप सेकते नजर आए। हालांकि सुबह तक धूप निकलने के साथ ही बाजार में कोहरा भी छाया रहा। पर दोपहर बाद कोहरा छंटने से चटख धूप खिल गई। 

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में बादलों का डेरा, चारधाम की ऊंची चोटियों में बर्फबारी; पहाड़ों में बूंदाबांदी

मुनस्यारी के खलिया टॉप पर आधा फीट बर्फ जमी 

कुमाऊं के ऊंचे हिस्सों में भी काफी बर्फबारी हुई है। मुनस्यारी(पिथौरागढ़) के खलिया टॉप में भारी हिमपात हुआ, जिससे वहां खलिया टॉप में आधा फीट बर्फ जम गई। वहीं, भुजानी के केएमवीएन पर्यटक आवास गृह तक भी आधा फीट बर्फ की चादर बिछ चुकी है। अलबत्ता कालामुनि से पातलथौड़ तक गिरी बर्फ दूसरे दिन पिघल चुकी है। नवंबर के अंत में भुजानी तक हुए हिमपात से आने वाले दिनों में भी भारी हिमपात की संभावना जताई जा रही है। 

यह भी पढ़ें: IN PICS Uttarakhand Weather: पहाड़ों में बर्फबारी और मैदानों में हुई बारिश, मौसम के तेवर पडेंगे नरम

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस