राज्य ब्यूरो, गैरसैंण। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने हरिद्वार में स्लाटर हाउस के निर्माण पर रोक लगाने के साथ ही हरिद्वार के ग्रामीण क्षेत्रों में विकास कार्यों को गति देने के लिए सभी पंचायतों को प्राधिकरण से मुक्त रखने की पैरवी की है। उन्होंने कहा कि हरिद्वार के भाजपा विधायकों ने भी स्लाटर हाउस पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाने के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को पत्र सौंपा है।

सोमवार को कैबिनेट मंत्री महाराज ने कहा कि धर्मनगरी हरिद्वार विश्व की आस्था एवं सांस्कृतिक विरासत का एक महत्वपूर्ण केंद्र है। ऐसे पवित्र स्थान पर स्लाटर हाउस के निर्माण के विषय में सोचना सनातन धर्म की परंपराओं के विरूद्ध है। इसे देखते हुए हरिद्वार में स्लाटर हाउस पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाई जानी चाहिए। धार्मिक आस्था के केंद्र हरिद्वार में स्लाटर हाउस के निर्माण का कोई औचित्य नहीं है।

इसलिए स्थानीय भाजपा विधायकों की मांग और संत महात्माओं की आध्यात्मिक भावनाओं को ध्यान में रखते हुए इसके निर्माण पर तत्काल रोक लगाई जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विकास के ऐजेंडे को हरिद्वार के ग्रामीण क्षेत्रों में प्रभावी क्रियान्वयन के लिए सभी पंचायतों को प्राधिकरण से मुक्त किया जाना बेहद जरूरी है।

यह भी पढ़ें-Uttarakhand Budget Session 2021: राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने कहा-उत्‍तराखंड को विकसित राज्‍यों की श्रेणी में लाना लक्ष्‍य

यह भी पढ़ें-Uttarakhand Budget Session 2021: कांग्रेस ने दोहराया, गैरसैंण को बनाएंगे स्थायी राजधानी

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021