देहरादून, जेएनएन। देहरादून में मंगलवार को तीन खबरें चर्चा में रहीं। पहली, बैंकों के महा विलय के विरोध में एसबीआइ को छोड़कर प्रदेशभर के अन्य बैंक कर्मचारी हड़ताल पर रहे। कर्मचारियों की हड़ताल के चलते अधिकांश बैंकों में काम-काज भी प्रभावित रहा। दूसरी, हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को रोडवेज का बकाया 68 करोड़ रुपये दीपावली से पहले जारी करने के आदेश दिया और तीसरी, बदमाशों ने एक बैंक खाते से 96 हजार से ज्यादा की रकम उड़ा दी और खाताधारक को छह माह तक पता नहीं चला। जब वह बैंक में रकम निकालने पहुंचा तो पता लगा कि खाते में रुपये कम है।

हड़ताल के चलते अधिकांश बैकों में ठप रहा कामकाज, उपभोक्ता परेशान

बैंकों के महा विलय के विरोध में एसबीआइ को छोड़कर प्रदेशभर के अन्य बैंक कर्मचारी हड़ताल पर रहे। कर्मचारियों की हड़ताल के चलते अधिकांश बैंकों में काम-काज भी प्रभावित रहा। इससे उपभोक्ता भी परेशान रहे। बैंकों के विलय के विरोध में बैंक कर्मचारी विरोध जता रहे हैं। इसके लिए आज देशव्यापी हड़ताल है। उत्तराखंड में भी हड़ताल का असर देखा गया है। उत्तरांचल बैंक इंप्लाइज यूनियन ने 10 बैंकों को विलय कर चार बैक बनाने के विरोध में उत्तरांचल बैंक एम्प्लाइज यूनियन के बैनर तले अधिकांश जिलों में कामकाज ठप रख कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया। दून में एस्ले हॉल चौक स्थित सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के बाहर बैंकर्स एकत्र हुए और मोदी सरकार के विरोध में जोरदार प्रदर्शन किया। 

रोडवेज की हड़ताल स्थगित

हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को रोडवेज का बकाया 68 करोड़ रुपये दीपावली से पहले जारी करने के आदेश दिया। जिससे कर्मचारियों को सितंबर और अक्टूबर का वेतन दिया जाएगा और लंबित भुगतान किए जाएंगे। सरकार पर रोडवेज का 85 करोड़ रुपये था बकाया। जिसमें हाईकोर्ट के पूर्व के आदेश पर सरकार ने 17 करोड़ रुपये जारी किए थे। इस रकम से जुलाई और अगस्त का वेतन दिया गया था। हाईकोर्ट के आदेश से रोडवेज कर्मचारियों में खुशी की लहर। आधी रात से होने वाली प्रदेशव्यापी हड़ताल स्थगित हो गई है।

यह भी पढ़ें: जान पर भारी पड़ रहे ऑलवेदर रोड के डेंजर जोन, पढ़िए पूरी खबर

छह महीने बाद पता चला खाते से उड़ गए 96 हजार

साइबर ठगी का एक अजीब मामला सामने आया है। बदमाशों ने एक बैंक खाते से 96 हजार से ज्यादा की रकम उड़ा दी और खाताधारक को छह माह तक पता नहीं चला। जब वह बैंक में रकम निकालने पहुंचा तो पता लगा कि खाते में रुपये कम है। खाते का विवरण निकाला तब खाते में लगी सेंध के बारे में जानकारी हुई। पीड़ि‍त ने घटना की तहरीर पुलिस को सौंप कर मुकदमा दर्ज कराया है। 

यह भी पढ़ें: यहां ऐसे ही खत्म न होगी प्लांट की लड़ाई, फिर हो सकता है आंदोलन

 

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस