देहरादून, जेएनएन। देहरादून में रविवार को तीन खबरें चर्चा में रहीं। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मीडिया से अनौपचारिक बातचीत में कहा कि डेंगू के मच्छर सरकार के घर में पैदा नहीं होते, मैं भी बोल सकता हूं कि विपक्ष ने षड्यंत्र के तहत डेंगू मच्छर शहर में छोड़े हैं। वहीं, अब परिवहन विभाग ने मोबाइल जांच वैन को भी मंजूरी देनी शुरू कर दी है, जो कॉल पर आपके घर आकर वाहन की प्रदूषण जांच करेगी। इधर, क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड की बैठक में नई कार्यकारिणी का गठन किया गया। जिसमें जोत सिंह गुनसोला को अध्यक्ष व महिम वर्मा को निर्विरोध सचिव चुना गया। 

विपक्ष ने षड्यंत्र के तहत डेंगू मच्छर शहर में छोड़े

प्रदेश में डेंगू के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। वहीं, सरकारी तंत्र इस पर रोक लगाने में नाकाम साबित हुआ है। पर स्थिति ये है कि डेंगू की रोकथाम की चर्चा छोड़ अब मच्छर को ही षडयंत्रकारी साबित किया जा रहा है। दरअसल, सेवा सप्ताह के अंतर्गत शनिवार को कोरोनेशन अस्पताल पहुंचे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कुछ ऐसा ही बयान दिया है। मीडिया से अनौपचारिक बातचीत में उन्होंने कहा कि डेंगू के मच्छर सरकार के घर में पैदा नहीं होते, मैं भी बोल सकता हूं कि विपक्ष ने षड्यंत्र के तहत डेंगू मच्छर शहर में छोड़े हैं। इतना ही नहीं उन्होंने मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के एक बड़े नेता पर अप्रत्यक्ष रूप से हमला करते हुए यह तक कह दिया कि पीसीसी अध्यक्ष प्रीतम सिंह के आसपास ही सबसे बड़ा मच्छर घूम रहा है, जिस वजह से वह अब तक अपने संगठन की कार्यकारिणी तक घोषित नहीं कर पाए हैं।

प्रदूषण जांच के लिए बुक कराएं समय 

नया मोटर वाहन अधिनियम लागू होने के बाद सबसे ज्यादा मारामारी सिर्फ वाहन के लिए प्रदूषण जांच को लेकर मची हुई है। दून में सुबह तीन बजे से रात आठ बजे तक लोग कतार में लगे होकर वाहन की प्रदूषण जांच करा रहे हैं। यहां महज 19 प्रदूषण जांच केंद्र हैं। लोगों की लंबी कतार को देख अब परिवहन विभाग ने मोबाइल जांच वैन को भी मंजूरी देनी शुरू कर दी है, जो कॉल पर आपके घर आकर वाहन की प्रदूषण जांच करेगी। यह पहला चलता फिरता मोबाइल प्रदूषण जांच केंद्र बालावाला निवासी संतोष सिंह ने परिवहन विभाग के मदद से खोला है। 

क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड के अध्यक्ष बने जोत सिंह 

क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड की बैठक में नई कार्यकारिणी का गठन किया गया। जिसमें जोत सिंह गुनसोला को अध्यक्ष व महिम वर्मा को निर्विरोध सचिव चुना गया। राजपुर रोड स्थित एक होटल में आयोजित बैठक में चुनाव अधिकारी सेवानिवृत्त आइएएस एसपी सुबर्धन व उप चुनाव अधिकारी अजीत सिंह की देखरेख में चुनाव प्रक्रिया संपन्न हुई। बता दें कि 13 अगस्त को क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड को बीसीसीआइ से पूर्ण मान्यता मिली थी। जिसके बाद एसोसिएशन को बीसीसीआइ का संविधान अपनाकर उसी के अनुसार नई कार्यकारिणी का गठन कर बीसीसीआइ को भेजना था। इसके लिए पांच सितंबर को राजपुर रोड स्थित सीएयू के कार्यालय में नामांकन प्रक्रिया संपन्न हुई। जिसमें छह पदों के लिए छह आवेदन ही प्राप्त हुए।

यह भी पढ़ें: मसूरी में कार खाई में गिरी, पांच युवक घायल Dehradun News

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप