देहरादून, [जेएनएन]: नेहरू कॉलोनी थाना क्षेत्र के गोरखपुर इलाके में सोमवार की रात विवाहिता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के मामले में पुलिस ने पति, ससुर व देवर को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने तीनों को अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। 

सुनीता पुत्री मदन गोपाल निवासी नवीननगर, एमडीए कॉलोनी, मुरादाबाद का विवाह 17 फरवरी 2016 को अमित कन्नौजिया पुत्र जगदीश प्रसाद कन्नौजिया निवासी गोरखपुर, डिफेंस कॉलोनी से हुआ था। 

मदन का आरोप है कि शादी में तीन लाख नकद और दस तोला सोने-चांदी के आभूषण समेत गृहस्थी का तमाम सामान दहेज में दिया। साथ ही मोटरसाइकिल के लिए पचास हजार रुपये एफडीआर भी दी। 

आरोप है कि जुलाई में जब सुनीता मायके आई तो उसने बताया कि ससुराल वाले दहेज में पांच लाख रुपये और मांग रहे हैं और इसे लेकर प्रताड़ित भी करते हैं। 

इसके बाद जब उनकी बेटी ससुराल जाने लगी तो उसे एक लाख रुपये देकर भेजा। एक नवंबर 2017 को सुनीता के बेटा पैदा हुआ तो ससुराल पक्ष के लोग उसके नाम पर कुछ पैसा जमा कराने का दबाव बनाने लगे। पैसे दे पाने में असमर्थता जताने पर सुनीता का उत्पीड़न और बढ़ गया। उसे मारापीटा और घर से निकाल दिया गया। 

मुरादाबाद में उसका इलाज कराने के बाद दोबारा उसे ससुराल भेजा। मदन गोपाल ने पुलिस को बताया कि सोमवार रात करीब पौने आठ बजे अमित का फोन आया कि सुनीता पलंग से गिर गई और सिर में गहरी चोट लगने से उसकी मौत हो गई है। 

रात में ही मायके वाले देहरादून पहुंचे तो देखा कि सुनीता का गला नीला पड़ा हुआ है। इससे आशंका बढ़ गई है कि उसे गला घोंटकर मारा गया है। इंस्पेक्टर राजेश शाह ने बताया कि मामले में पति अमित कन्नौजिया, देवर सुमित कुमार, ससुर जगदीश प्रसाद कन्नौजिया, सास मीना, मौसी अनीता कन्नौजिया के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। इसमें से पति अमित, ससुर जगदीश कन्नौजिया व देवर सुमित को गिरफ्तार कर लिया गया है।

यह भी पढ़ें: संदिग्ध परिस्थितियों में विवाहिता की मौत, मायके वालों ने लगाया गला घोंटने का आरोप

यह भी पढ़ें: हत्या के तीन दोषियों को आजीवन कारावास की सजा

यह भी पढ़ें: एक ही रात में तीन हत्याओं से दहला ये शहर, जानिए पूरा मामला

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप