जागरण संवाददाता, ऋषिकेश

पौड़ी जनपद की यमकेश्वर विधानसभा सीट पर इस बार 90 हजार 638 मतदाता प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे। जिसमें 48533 पुरुष तथा 42103 महिला मतदाता शामिल हैं। यमकेश्वर विधानसभा में वर्ष 2007 तक जहां महिलाओं की संख्या पुरुष मतदाताओं से अधिक थी, वहीं अब पुरुष मतदाताओं की संख्या महिलाओं की तुलना में 6430 अधिक हो गई है।

यमकेश्वर विधानसभा पूरी तरह पर्वतीय विधानसभा है। उत्तराखंड राज्य स्थापना के बाद वर्ष 2002 में हुए पहले विधानसभा चुनाव में यमकेश्वर विधानसभा में 60 हजार 616 मतदाता थे, जिनमें महिलाओं की संख्या पुरुषों से अधिक थी। यही वजह रही कि पहले ही विधानसभा चुनाव में इस सीट पर भाजपा व कांग्रेस ने महिला प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतारे थे। परिणामस्वरूप यह सीट भाजपा की झोली में गई थी। तब से अब तक इस सीट पर भाजपा का ही कब्जा रहा है और अब तक हमेशा महिला प्रतिनिधि ने ही इस सीट पर प्रतिनिधित्व किया है। दूसरे विधानसभा चुनाव वर्ष 2007 में भी यमकेश्वर विधानसभा सीट पर महिला मतदाता ही निर्णायक भूमिका में रहीं। तब यहां पुरुष मतदाताओं की संख्या 27569 तथा महिला 28383 के साथ कुल मतदाता संख्या 55907 थी। परिसीमन के बाद 2012 में हुए विधानसभा चुनाव में इस सीट पर कोई खास भौतिक बदलाव नहीं हुआ। मगर, महिला-पुरुष मतदाताओं का आंकड़ा जरूर बदल गया। तब यहां पुरुष मतदाताओं की संख्या 38689 तथा महिला मतदाताओं की संख्या 35930 के साथ कुल संख्या 74619 हो गई थी। इसके बाद अब तक यहां पुरुष मतदाताओं की संख्या महिलाओं से अधिक बनी हुई है। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में यमकेश्वर में 86815 मतदाता थे, जिनमें महिलाओं की अपेक्षा 5672 पुरुष मतदाता अधिक थे। जबकि इस बार मतदाताओं की संख्या में 3823 मतदाताओं की वृद्धि के साथ कुल मतदाताओं की संख्या 90638 हो चुकी है। अब यमकेश्वर सीट पर कुल 90638 मतदाता हैं, जिनमें 48533 पुरुष तथा 42103 महिला मतदाता हैं। उत्तराखंड राज्य बनने के बाद मतदाताओं की संख्या पर गौर करें तो यमकेश्वर में बीस वर्षो में 30022 मतदाता बढ़े हैं।

यमकेश्वर में अब तक यह रही मतदाओं की स्थिति

वर्ष, पुरुष, महिला, थर्ड जेंडर, कुल मतदाता

2002, 28854, 31762, 00, 60616

2007, 27569, 28383, 00, 55907

2012, 38689, 35930, 00, 74619

2017, 46243, 40571, 01, 86815

2022, 48533, 42103, 02, 90638

स्त्रोत : राज्य निर्वाचन आयोग

Edited By: Jagran