देहरादून, राज्य ब्यूरो। काशीपुर में सेल्स गर्ल की हत्या के मामले की गूंज अब सरकार व शासन तक भी सुनाई दे रही है। इस मामले में पुलिस मुख्यालय ने हत्यारों की गिरफ्तारी और प्रकरण का खुलासा करने को 10 टीमों का गठन करने के निर्देश दिए हैं। देहरादून से भी एक टीम को इस मामले की जांच के लिए भेजा गया है।

 काशीपुर के गिरिताल रोड स्थित एक मोबाइल शोरूम में 18 अक्टूबर को सेल्स गर्ल पिंकी रावत की चाकू से गोदकर निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई थी। इस जघन्य हत्याकांड के आरोपी अभी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं और इसके कारणों का भी पूरी तरह पता नहीं चल पाया है। हालांकि, शक के आधार पर पुलिस ने शोरूम स्वामी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। इस मामले में स्थानीय लोगों के बढ़ते आक्रोश को देखते हुए पुलिस ने 48 घंटे के भीतर मामले का खुलासा करने का वादा किया हुआ है। लोगों की नाराजगी मुख्यमंत्री कार्यालय तक पहुंच चुकी है। इसे देखते हुए पुलिस मुख्यालय भी हरकत में आया है। इस मामले में पुलिस मुख्यालय ने जल्द से जल्द मामले के खुलासे के लिए 10 टीमों का गठन करने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए एक विशेषज्ञ टीम देहरादून से भी भेजी जा रही है। पुलिस महानिदेशक कानून-व्यवस्था अशोक कुमार ने बताया कि मामले के खुलासे के लिए 10 टीमें बनाई गई हैं जो जगह-जगह दबिश देने का काम करेगी। देहरादून से भी एक टीम भेजी गई है।

नाबालिग के अपहरण के आरोपित किच्छा से गिरफ्तार 

पटेलनगर कोतवाली क्षेत्र से नाबालिग का अपहरण करने के दो आरोपितों को पुलिस ने ऊधमसिंहनगर के किच्छा से गिरफ्तार कर लिया। दोनों को पुलिस ने रविवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से दोनों को जेल भेज दिया गया।

यह भी पढ़ें: धोखे से की दूसरी शादी, छह माह के बेटे को मारने की धमकी; युवक समेत परिजनों पर मुकदमा

पुलिस के अनुसार बीती पांच अक्टूबर को एक व्यक्ति ने मुकदमा दर्ज कराया कि दो युवकों ने उसकी नाबालिग पुत्री का अपहरण कर लिया है। फोन पर दोनों से बात की तो वह पुत्री को जान से मारने की धमकी दे रहे थे। पुलिस ने दोनों के मोबाइल नंबरों को सर्विलांस पर लगाया तो लोकेशन किच्छा में मिली। इसके बाद पटेलनगर कोतवाली से एक टीम किच्छा भेजी गई, जहां रविवार को दोनों आरोपितों को गिरफ्तार करते हुए किशोरी को बरामद कर लिया गया।

यह भी पढ़ें: दून में सरेशाम भाजपा नेता को मारी गोली, हमलावर गिरफ्तार Dehradun News

आरोपितों की पहचान रिजवान व इमरान निवासी किच्छा, सिरौली, ऊधम सिंह नगर के रूप में हुई है। रिजवान कस्टम आफिस में सुपरवाइजर है, जबकि इमरान की किच्छा में ही सीमेंट की दुकान है। दोनों के खिलाफ दुष्कर्म और पोक्सो एक्ट की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़ें: आरती के कपड़े समेत 16 सबूत एफएसएल भेजे Dehradun News

Posted By: Sunil Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप