जागरण संवाददाता, ऋषिकेश: उत्तराखंड चारधामों में प्रतिष्ठित श्री यमुनोत्री धाम मंदिर समिति एवं तीर्थ पुरोहितों हक हकूकधारियों का शिष्ट मंडल उच्च स्तरीय समिति देवस्थानम बोर्ड के अध्यक्ष मनोहर कांत ध्यानी से मिला। उन्होंने कहा कि सभी के हक हकूक की रक्षा देवस्थानम बोर्ड उच्च स्तरीय समिति की प्राथमिकता में शामिल है।

ऋषिकेश स्थित कार्यालय में तीर्थ पुरोहितों ने अपने हक हकूकों और अधिकारों को सुरक्षित रखे जाने के लिए सुझाव एवं अपने प्रपत्र समिति के समक्ष प्रस्तुत किए। उच्च स्तरीय समिति अध्यक्ष मनोहर कांत ध्यानी ने शिष्ट मंडल को विश्वास दिलाया कि उनके हक हकूकों एवं अधिकारों के संबंध में उनकी ओर से प्रस्तुत प्रपत्रों को उच्च स्तरीय समिति की रिपोर्ट में शामिल किया जा रहा है। सभी के हक हकूक एवं अधिकार सुरक्षित रखना समिति की प्राथमिकता है। तीर्थ पुरोहितों ने उन्हें यमुना मां का प्रसाद भी भेंट किया। इस अवसर पर यमुनोत्री मंदिर समिति उपाध्यक्ष राम स्वरूप उनियाल, सचिव सुरेश उनियाल, वरिष्ठ तीर्थ पुरोहित जय प्रकाश उनियाल, पूर्व उपाध्यक्ष पवन उनियाल, रतनमणि उनियाल, राघवानंद उनियाल, सुभाष उनियाल सहित देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़, निजी सचिव वीरेंद्र उनियाल, विशेष कार्याधिकारी नरेंद्र शर्मा, प्रबंधक अमित राणा आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़ें- देहरादून नगर निगम में नाटकीय घटनाक्रम में खुला ट्रैक्टर ट्राली का टेंडर, पढ़िए पूरी खबर

मृतक के स्वजन ने डीएम से मांगी मदद

प्रेमनगर में हुए गोलीकांड में मृत राहुल के स्वजन ने जिलाधिकारी से आर्थिक सहायता देने की मांग की है।

बुधवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संग्राम पुंडीर व राष्ट्रीय न्याय क्रांति मंच के अध्यक्ष नानक चंद के साथ मृतक राहुल के स्वजन ने जिलाधिकारी डा. आर राजेश कुमार से मुलाकात की। राहुल के पिता माधो सिंह ने जिलाधिकारी के समक्ष अपनी परेशानियां रखी और राहुल के हत्यारों को कड़ी सजा दिलाने की मांग की। संग्राम पुंड़ीर ने बताया कि सात बहनों का राहुल अकेला भाई था। वह परिवार में एकमात्र कमाने वाला था। ऐसे में परिवार के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। इस दौरान मृतक राहुल की बहन ज्योति, नसीम खान, नाथी राम, रंजीत सिंह, महेंद्र कल्याण, कैलाश वाल्मीकि, सन्नी कुमार समेत अन्य मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- Uttarakhand Weather Update: बदरीनाथ और केदारनाथ समेत ऊंची चोटियों पर हुई बर्फबारी, मैदानी इलाकों में ठंड बढ़ी

Edited By: Sumit Kumar