देहरादून, जेएनएन। चिह्नीकरण समेत आठ मांगों को लेकर राज्य आंदोलनकारी मुखर हैं। मांगों को लेकर राज्य आंदोलनकारी पांच दिसंबर को विधानसभा घेराव करेंगे। कलक्ट्रेट स्थित शहीद स्मारक स्थल में राज्य आंदोलनकारी मंच की ओर से बैठक आयोजित की गई। इसमें विभिन्न मांगों को लेकर आंदोलन की रणनीति पर चर्चा की गई।

मंच के वरिष्ठ सलाहकार ओमी उनियाल ने कहा कि सरकार राज्य आंदोलनकारियोंकी उपेक्षा कर रही है। विभिन्न समस्याओं को लेकर आंदोलनकारी लंबे समय से संघर्षरत हैं, लेकिन सरकार की ओर से सुध नहीं ली जा रही है। ऐसे में मंच ने निर्णय लिया है कि पांच दिसंबर को राज्य आंदोलनकारी विधानसभा कूच करेंगे और प्रदेश सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया जाएगा। 

मंच के प्रदेश अध्यक्ष जगमोहन नेगी ने कहा कि सरकार आंदोलनकारियों को प्रदर्शन के लिए मजबूर कर रही है। प्रदेश महासचिव रामलाल खंडूड़ी व जिला अध्यक्ष प्रदीप कुकरेती ने कहा कि राज्य निरंतर आगे तो बढ़ा है, लेकिन अभी तक शहीदों को न्याय और राज्य आंदोलनकारियों के कल्याण के कार्य नहीं हुए हैं। 

यह भी पढ़ें: टीएचडीसी के निजीकरण के खिलाफ प्रदेश काग्रेस ने बोला हल्ला

बैठक में डीएस गुसाईं, वेद प्रकाश शर्मा, रामलाल खंडूड़ी, गंभीर मेवाड़, पूरण सिंह लिंगवाल, विनोद असवाल, जीतपाल, जबर सिंह पावेल, विक्रम भंडारी, बलबीर नेगी, करमचंद, रामपाल, प्रभात डंडरियाल, राधा तिवारी, तारा रावत आदि उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें: गैरसैंण मामले पर भाजपा और कांग्रेस फिर आमने-सामने

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस