संवाद सूत्र, चकराता (देहरादून)। ग्रामीण जनता की मांग पर जिलाधिकारी के निर्देशन में गुरुवार को देहरादून के पर्वतीय डिपो से पहली बार जौनसार के सुदूरवर्ती चिल्हाड़-बाणा पंचायत के लिए रोडवेज सेवा शुरू हो गई। वाया मीनस-त्यूणी होकर रोडवेज बस के चिल्हाड़ पहुंचने पर ग्रामीण खुशी से झूम उठे। उन्होंने बस चालक और परिचालक तथा प्रशासन का परंपरागत तरीके से स्वागत किया। ग्रामीणों ने रोडवेज सेवा के संचालन को जिलाधिकारी का आभार जताया। उन्होंने कहा कि इससे दूर-दराज की जनता को आवाजाही में आसानी रहेगी।

प्रखंड से जुड़े सीमांत चिल्हाड़-बाणा पंचायत के ग्रामीणों की मुराद पूरी हो गई। छह दिन पूर्व बीते शनिवार को जिला मुख्यालय से करीब 170 किमी दूर जौनसार के सुदूरवर्ती चिल्हाड़ पंचायत के दौरे पर आए जिलाधिकारी डा. आर राजेश कुमार ने जनता के द्वार कार्यक्रम के तहत जनसमस्याएं सुनीं। इसमें विभिन्न विभागों से संबंधित कुल 120 शिकायतें आई थीं। जिलाधिकारी ने 25 शिकायतों का मौके पर ही निस्तारण कर दिया था, जबकि अन्य शिकायतों को जल्द निस्तारित करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए थे।

चिल्हाड़ व बाणा पंचायत के ग्रामीणों ने जिलाधिकारी से सार्वजनिक परिवहन सेवा की कमी के चलते आवागमन में कई तरह की परेशानी झेल रहे क्षेत्रवासियों की समस्या उन्हें बताई थी। ग्रामीणों ने जिलाधिकारी के समक्ष देहरादून से वाया मीनस-त्यूणी होकर चिल्हाड़-बाणा के लिए सीधी रोडवेज सेवा शुरू करने की पुरजोर तरीके से मांग की। ग्रामीणों की पहल रंग लाई और पांच दिन बाद ग्रामीण जनता की मांग पर जिलाधिकारी डा. आर राजेश कुमार के निर्देशन में गुरुवार को परिवहन निगम के पर्वतीय डिपो देहरादून से चिल्हाड़-बाणा के लिए रोडवेज सेवा की शुरुआत हो गई।

चिल्हाड़ के प्रधान नवप्रभात, क्षेत्र पंचायत सदस्य गीतांजलि बिजल्वाण, मोहनलाल बिजल्वाण व पिताबंरदत्त बिजल्वाण आदि ने कहा कि जिलाधिकारी ने जनता के द्वार कार्यक्रम में ग्रामीणों से किया अपना वादा पूरा निभाया। इसके लिए चिल्हाड़-बाणा पंचायत के सभी ग्रामीणों ने आभार जताया। इस मौके पर नायब तहसीलदार त्यूणी जितेंद्र सिंह नेगी, राजस्व संघ के जिलाध्यक्ष तिलकराम जोशी, राजस्व उपनिरीक्षक श्याम सिंह तोमर, सुरेशचंद जिनाटा, अनिल चौहान आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें:- सिस्टम की खामी से दर्द दे रही हैं सड़कें, कागजों से बाहर ही नहीं निकल पा रही थर्ड पार्टी आडिट की कवायद