जागरण संवाददाता, ऋषिकेश : वरिष्ठ रंगकर्मी श्रीश डोभाल को नेशनल स्कूल आफ ड्रामा (एनएसडी) के भारत रंग महोत्सव-2022 की चयन समिति में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी मिली है। भारत रंग महोत्सव का आयोजन नई दिल्ली में एक से 21 फरवरी 2022 तक किया जाएगा।

रंगकर्म के क्षेत्र में राष्ट्रीय नाट््य विद्यालय की ओर से आयोजित किए जाने वाले भारत रंग महोत्सव विशेष महत्व रखता है। जिसमें देश विदेश के चुङ्क्षनदा नाटकों को इस महोत्सव में शामिल किया जाता है। इस बार वरिष्ठ रंगकर्मी ऋषिकेश निवासी श्री डोभाल को भारत रंग महोत्सव की चयन समिति में सम्मिलित किया गया है। श्रीश डोभाल नेशनल स्कूल आफ ड्रामा के परास्नातक हैं। श्रीश डोभाल ने बताया कि विगत वर्ष कोरोना महामारी के चलते भारत रंग महोत्सव आयोजित नहीं हुआ था। इस बार भारत रंग महोत्सव 2022 का आयोजन एक फरवरी से 21 फरवरी तक किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि भारत रंग महोत्सव के लिए देश तथा दुनिया भर से 800 से अधिक प्रविष्टियां प्राप्त हुई हैं, जिनमें 75 प्रविष्टियां विदेशी हैं। उन्होंने बताया कि प्रविष्टियों के चयन की प्रक्रिया अंतिम दौर में है। फाइनल दौर के बाद विभिन्न श्रेणियों में लगभग 100 नाटक चयनित किए जाएंगे। जिन्हें दिल्ली में प्रदर्शित किया जाएगा। इसके अलावा पांच अन्य नगरों में भी सात-सात दिनों के लिए इस अंतरराष्ट्रीय महोत्सव के कुछ चुने हुए नाटकों को प्रदर्शित किया जाएगा।

धूमधाम के साथ स्थापित हुई साईं बाबा की मूर्ति

श्री शिरडी साईं धाम सेवा समिति ऋषिकेश की ओर से परशुराम चौक के समीप नवनिर्मित मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव के साईं बाबा की मूर्ति स्थापित की गई। इस अवसर पर श्रद्धालुओं ने नगर में धूमधाम के साथ साईं बाबा की पालकी तथा कलश यात्रा निकाली गई।

शुक्रवार को दो दिवसीय धार्मिक कार्यक्रमों की श्रृंखला गणेश पूजन के साथ आरंभ हुई। इससे पूर्व श्रद्धालुओं ने त्रिवेणी घाट से नवनिर्मित मंदिर तक बैंड बाजों के साथ कलश यात्रा तथा साईं बाबा की भव्य पालकी यात्रा निकाली। इस अवसर पर अध्यक्ष अशोक थापा ने बताया कि डेढ़ वर्ष पूर्व उच्च न्यायालय के आदेश पर पुराना बदरीनाथ मार्ग से मंदिर को हटा दिया गया था। तब से साईं बाबा की मूर्ति को अन्यत्र शिफ्ट किया गया था। उन्होंने कहा कि आज परशुराम चौक के समीप बाबा का भव्य मंदिर समिति की ओर से निर्मित किया गया। जिसमें साईं बाबा की मूर्ति को स्थापित किया गया है। इस दौरान भजन गायक राकेश जुनेजा तथा अंजलि थापा ने साईं भजनों की प्रस्तुत देकर श्रद्धालुओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। 27 नवंबर को दिल्ली के विख्यात सक्सेना बंधु भजनों की प्रस्तुति देंगे। कलश यात्रा में समिति के उपाध्यक्ष विजेंद्र गौड़, महामंत्री वेद प्रकाश धींगरा, कोषाध्यक्ष दिनेश कुमार शर्मा, सुरेंद्र आहूजा, संजीव पाल, ओम प्रकाश मुल्तानी, राजीव नागपाल आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़ें- जाानें- इस 'फकीर' के बारे में, जो अवसादग्रस्तों को हिम्मत देने के लिए निकला है गंगोत्री से गंगा सागर की पैदल यात्रा पर

Edited By: Raksha Panthri