देहरादून, जेएनएन। उत्तराखंड के मैदानी इलाकों में भले ही मौसम शुष्क बना हुआ है, लेकिन पर्वतीय क्षेत्रों में मौसम ने करवट ले ली है। बदरीनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री की चोटियों के अलावा फूलों की घाटी व हेमकुंड में बर्फबारी हुई। हिमपात होने से निचले इलाकों में ठंड बढ़ गई है। देर शाम को गंगोत्री व यमुनोत्री धाम में बारिश हो रही थी।

मैदानी इलाकों में न्यूनतम तापमान सामान्य से एक से तीन डिग्री तक लुढ़क गया है। रविवार को मसूरी का न्यूनतम तापमान 11.2 व नैनीताल का 12.5 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। जबकि दून का अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान क्रमश 30.8 डिग्री सेल्सियस व 15.4 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। पिछले एक सप्ताह में देहरादून का न्यूनतम तापमान में छह डिग्री सेल्सियस की कमी आई है।

मैदानी क्षेत्र हरिद्वार व ऊधमसिंह नगर के न्यूनतम तापमान में छह से सात डिग्री की कमी दर्ज कर गई है। मौसम विज्ञान केंद्र का मानना है कि आने वाले सप्ताह में मैदानी क्षेत्र के न्यूनतम तापमान में तीन से चार डिग्री सेल्सियस की कमी आ सकती है।

यह भी पढ़ें: पहली बार सामान्य नीचे गिरा पारा, 21 से चार जिलों में भारी बारिश की चेतावनी

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि अगले सप्ताह उत्तराखंड में मौसम शुष्क रहेगा, लेकिन उच्च हिमालयी क्षेत्र में बारिश और बर्फबारी की संभावना है। बताया कि नौ अक्‍टूबर से देश में राजस्थान से मानसून की विदाई शुरू हो गई  थी है। 11 अक्टूबर को उत्तराखंड समेत उत्तर भारत से मानसून विदाई हो गई। प्रदेश में इस बार कुल 107 दिन मानसून सक्रिय रहा है। 

यह भी पढ़ें: बदरीनाथ धाम की चोटियों व हेमकुंड में बर्फबारी, सामान्य बारिश के साथ मानसून की विदाई

Posted By: Sunil Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप