संवाद सहयोगी, विकासनगर: नगर की पुरानी हो चुकी सीवर लाइन नागरिकों के लिए गंभीर समस्या उत्पन्न कर रही है। नगर पालिका बनने के समय डाली गई सीवर लाइन पर जनसंख्या का दबाव कई गुना बढ़ चुका है। सीवर का विस्तार नहीं होने से आए दिन इसके चोक होने और गंदा पानी सड़को पर फैलने की मुसीबत से नागरिकों को जूझना पड़ रहा है। सीवर के विस्तार की योजना आठ साल पहले बनाकर केंद्र सरकार को भेजी गई थी, लेकिन तब से लेकर अभी तक यह योजना शासन स्तर पर लंबित है।

विकासनगर को सन 1972 में नगर पालिका का दर्जा मिलने के बाद नगर क्षेत्र में नागरिकों की सुविधा के लिए सीवर लाइन का निर्माण कराया गया था। उस समय नगर के वार्ड नंबर एक, दो और तीन में पूर्ण रूप से और वार्ड नंबर चार, छह, सात, आठ और नौ में आंशिक रूप से सीवर लाइन डाली गई थी। जनसंख्या की बात करें तो पालिका अस्तित्व में आने के समय नगर में आबादी काफी कम थी। समय बदलने के साथ विकासनगर शहर का विस्तार हुआ तो जनसंख्या भी बढ़ती रही। मौजूदा समय में नगर की आबादी 50 हजार से अधिक पहुंच चुकी है। उधर नगर में हुए बेतहाशा भवन निर्माण के दौरान नए भवनों के कनेक्शन पुरानी सीवर लाइन में जोड़ देने से दबाव बढ़ता चला गया। मौजूदा समय में सीवर लाइन एक गंभीर समस्या बन गई है। सीवर लाइन चोक होना या सीवर की गंदगी ढक्कन से बाहर आकर सड़कों पर फैलने जैसी समस्या यहां आए दिन सामने आ रही है। नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी बीएल आर्य का कहना है सीवर लाइन जनसंख्या का दबाव झेलने में सक्षम नहीं है, जिसके चलते इस प्रकार की समस्या सामने आ रही है।

-------------

इंसेट

नगर की सीवर लाइन को विस्तार देने की कवायद 2013 में शुरू की गई। तत्कालीन पालिका बोर्ड के माध्यम से सीवर लाइन के विस्तार से संबंधित प्रस्ताव बनाकर प्रदेश सरकार को भेजा गया। प्रदेश सरकार ने अग्रिम कार्रवाई के लिए संस्तुति के साथ केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेज दिया। लगभग दो साल पहले केंद्र सरकार ने एडीबी के माध्यम से सीवर लाइन को विस्तार देने के लिए डेढ़ सौ करोड़ की योजना को मंजूरी दी। इसके तहत नगर की सीवर लाइन का विस्तार, जल निकासी की व्यवस्था और पेयजल लाइनों का काम किया जाना था। लेकिन अभी तक इस योजना पर काम प्रारंभ नहीं हो सका है। विधायक मुन्ना सिंह चौहान का कहना है कि इस संबंध में उनके माध्यम से शासन स्तर पर योजना के क्रियान्वयन के लिए पैरवी की जा रही है। उम्मीद है शीघ्र ही योजना पर कार्य शुरू कराया जाएगा।

---------------

सीवर के ढक्कन खुलने से बढ़ रहा दुर्घटना का खतरा

विकासनगर: उत्तराखंड जन जागृति मंच ने नगर के बाजार में सीवर के ढक्कन खोलने से सड़क में बने गड्ढों से दुर्घटना की आशंका व्यक्त की है। मंच के सदस्यों का कहना है कि ढक्कनों के ऊपर गहरे गड्ढे बन गए हैं, जिनमें गिरकर दुपहिया वाहन सवार चोटिल हो रहे हैं। उन्होंने जल संस्थान से बाजार क्षेत्र के ऐसे सभी गड्ढों को ठीक करने की मांग की है। मांग करने वालों में मंच के प्रदेश अध्यक्ष अरविद शर्मा, प्रदेश महासचिव सुशील कुक्की, संजय शर्मा कौशिक, विजय पाल लोधा, ऋतु ठाकुर शामिल हैं।

Edited By: Jagran