जागरण संवाददाता, देहरादून: सेना के प्रतिष्ठित 'आर्मी इंस्टीट्यूट ऑफ लॉ' मोहाली के'लॉ एंट्रेंस टेस्ट' (एलईटी) में दून के युवाओं ने परचम लहराया है। ऑल इंडिया स्तर पर आयोजित होने वाली इस प्रतियोगिता में देहरादून के शिखर पंवार ने पहला रैंक हासिल किया है। देहरादून की ही लविशा सती ने देश में दूसरी रैंक हासिल की है।

मोहाली चंडीगढ़ स्थित 'आर्मी इंस्टीट्यूट ऑफ लॉ' सेना का एक नामी संस्थान है। इस संस्थान में पाच वर्षीय बीए एलएलबी कोर्स की कुल 80 सीटें हैं। इसमें प्रवेश लिए प्रतिवर्ष 'लॉ एंट्रेंस टेस्ट' (एलईटी) आयोजित किया जाता है। इन 80 सीटों में से 60 सीटें सैनिकों के बच्चों के लिए और 16 सीटें पंजाब राज्य के मूल निवासियों के लिए आरक्षित रहती हैं। शेष चार सीटें ऑल इंडिया जनरल कोटे से भरी जाती हैं। इन सीटों के लिए बेहद कड़ी प्रतिस्पर्धा होती है। आगामी सत्र के लिए आयोजित हुई एलईटी में देहरादून के शिखर पंवार ने अपना परचम लहराया है। उन्होंने 200 में से 165 अंक हासिल कर एलईटी में प्रथम रैंक हासिल की है। सबसे अहम बात यह है कि शिखर पंवार ने जनरल कोटे की चार सीटें ही नहीं, पूरी एलईटी परीक्षा में टॉप किया है। शिखर पंवार के पिता शूरवीर सिंह पंवार टीएचडीसी टिहरी परियोजना में जनरल मैनेजर के पद पर तैनात हैं। शिखर का कहना है कि उन्हें उनकी माता सुनीता पंवार से प्रेरणा मिलती है, जिसके बूते उन्हें कोई भी मिशन मुश्किल नहीं लगता। देहरादून के ब्राइटलैंड स्कूल से शिखर ने इंटरमीडिएट की परीक्षा 91 फीसद व हाईस्कूल की 94 फीसद अंकों के साथ उत्तीर्ण की थी। उन्होंने हिमाचल प्रदेश लॉ यूनिवर्सिटी के लॉ एंट्रेंस टेस्ट में उत्तराखंड में प्रथम स्थान हासिल किया था। जबकि भारत में 30वीं रैंक हासिल की थी।

By Jagran