जागरण संवाददाता, ऋषिकेश: त्रिवेणी घाट के समीप आस्था पथ पर गंगा में नहा रहे युवक अचानक डूब गया। जिसका पता नहीं चल पाया। एसडीआरएफ और जल पुलिस की टीम रेस्क्यू कर रही है।

आज दोपहर करीब डेढ़ बजे की है घटना

त्रिवेणी घाट और बहत्तर सीढ़ी घाट के मध्य बुधवार की दोपहर करीब 1:30 बजे चार युवक गंगा में नहाने गए थे। इनमें एक युवक मनोज (25 वर्ष) पुत्र मांगेराम निवासी जलालाबाद, शामली, उत्तर प्रदेश नहाते हुए गहरे पानी की ओर चला गया। जिसके बाद वह डूबने लगा, उसे तैरना नहीं आता था। उसके साथ गए तीन साथी भी तैरना नहीं जानते थे। देखते-देखते मनोज गंगा में लापता हो गया।

एसडीआरएफ और जल पुलिस कर रही उसकी तलाश

कोतवाली के वरिष्ठ उपनिरीक्षक डीपी काला ने बताया कि मनोज मायाकुंड स्थित एक हलवाई के यहां काम करता था, यह वही रहता था। अपने तीन अन्य साथियों के साथ वह नहाने के लिए गया था। गंगा में उसकी तलाश के लिए एसडीआरएफ ढालवाला से टीम के साथ जल पुलिस की टीम को लगाया गया है।

यात्रियों से भरा मैक्स सड़क किनारे गड्डे में पलटा

भगवानपुर: काली नदी चेक पोस्ट के पास यात्रियों से भरा एक मैक्स वाहन अनयिंत्रित होकर सड़क किनारे एक गड्डे में जाकर पलट गया। हादसे में महिला समेत आठ यात्रियों को मामूली चोट आई है। इस दौरान मौके पर अफरा-तफरी का माहौल रहा। भगवानपुर थाना क्षेत्र के सिकंदरपुर गांव निवासी कुछ व्यक्ति बुधवार को गागलहेड़ी में एक तेहरवी की रस्म में शामिल होने के लिए एक मैक्स वाहन में सवार होकर जा रहे थे।

जैसे ही मैक्स वाहन काली नदी चेक पोस्ट के समीप पहुंचा तो वाहन के सामने अचानक ही एक कुत्ता आ गया। कुत्ते को बचान के प्रयास में वाहन अनियंत्रित होकर सड़क किनारे गहरे गड्डे में जाकर पलट गया। वाहन के पलटने के साथ ही मौके पर अफरातफरी मच गई।

हादसा होते देख आसपास के लोग मौके पर पहुंच गये। वाहन के अंदर लोग मदद के लिए चिल्ला रहे थे। इन्होंने वाहन में फंसे करीब 12 लोगों को बाहर निकाला। जिसमें केहर सिंह, बेबी, अंजू, बिजेंद्र , रीना, सुखबीर वीरपाल आदि लोग घायल हो गये। इन सभी को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में उपचार दिलाया गया है। हादसे की सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंची थी। पुलिस ने वाहन को किसी तरह से गड्डे से बाहर निकलवाया।

Edited By: Sunil Negi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट