देहरादून, जेएनएन। पथरी बाग स्थित एसजीआरआर पीजी कॉलेज के छात्रों को स्मार्ट क्लास रूम में पढ़ने का मौका मिलेगा। राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान (रूसा) की ओर से कॉलेज को जारी दो करोड़ रुपये की ग्रांट से कॉलेज में निर्माण काम शुरू होने जा रहा है। पहले चरण में तीन स्मार्ट कक्षाओं, शौचालयों और दो पहिया वाहन पार्किंग बनने जा रही है। इनका शिलान्यास शुक्रवार 12 जुलाई को उच्च शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. धन सिंह रावत करेंगे। 

बुधवार को छात्र संघ अध्यक्ष प्रविंद गुप्ता के नेतृत्व में सक्षम संगठन के कार्यकर्ता प्राचार्य दफ्तर पहुंचे। संगठन के कार्यकर्ताओं ने कॉलेज में नए विकास कार्य शुरू करने के लिए उनका धन्यवाद दिया। कॉलेज के प्राचार्य डॉ. वीए बौड़ाई ने बताया कि शुक्रवार को सुबह 11 बजे उच्च शिक्षा राज्य मंत्री परिसर में नई स्मार्ट कक्षा, शौचालय और दो पहिया वाहन पार्किंग का शिलान्यास करेंगे। उन्होंने कहा कि यह निर्माण कार्य रूसा की प्राप्त ग्रांट से करवाया जा रहा है। विदित रहे कि दून की दो कॉलेज डीबीएस एवं एसजीआरआर को रूसा की ओर से दो-दो करोड़ की ग्रांट मिल चुकी है।

एनसीसी ने जनसंख्या नियंत्रण जागरूकता रैली निकाली 

डीएवी पीजी कॉलेज के एनसीसी कैडेटों ने जनसंख्या नियंत्रण विषय पर बुधवार को एक जागरूकता रैली निकाली। रैली डीएवी कॉलेज रोड से करनपुर बाजार, ईसी रोड पहुंची, जहां पर आम जनमानस को बढ़ती जनसंख्या के प्रति जागरूक किया गया और जनसंख्या वृद्धि से होने वाले घातक परिणामों के बारे में विस्तारपूर्वक बताया। एनसीसी कैडेटों के इस प्रयास की लोगों ने सराहना की रैली के बाद डीएवी में एनसीसी अधिकारी मेजर अतुल सिंह व वरिष्ठ कैडेटों ने जनसंख्या वृद्धि पर व्याख्यान दिए। एनसीसी कैडेटों का आह्वान किया कि वह अपने-अपने क्षेत्रों में इस अभियान को जारी रखेंगे एवं समाज को एक नई दिशा प्रदान करें। इस मौके पर कॉलेज के प्राचार्य डॉ. अजय सक्सेना एवं 29 बटालियन एनसीसी के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल सुदीप बोस ने कैडेटों के कार्यों की सराहना की।

रायपुर डिग्री कॉलेज में आवेदन की तिथि बढ़ी

राजकीय महाविद्यालय रायपुर में चालू शिक्षा सत्र में प्रवेश प्रक्रिया की तिथि बढ़ा दी गई है। अभ्यर्थी अपने प्रवेश आवेदन पत्र 12 जुलाई तक ऑफलाइन महाविद्यालय कार्यालय में जमा कर सकते हैं। प्राचार्य डॉ. अंजू अग्रवाल ने बताया कि स्नातक एवं स्नातकोत्तर कक्षाओं में प्रवेश के लिए ऑफलाइन ही आवेदन की व्यवस्था की गई है। दाखिले के इच्छुक छात्र-छात्राएं महाविद्यालय के प्रवेश काउंटर से आवेदन पत्र प्राप्त कर सकते हैं। 16 जुलाई को मेरिट लिस्ट जारी की जाएगी, फिर 17 जुलाई को दाखिला प्रक्रिया शुरू होगी।

स्नातक में यह है विषय 

  • बीए (हिन्दी, अर्थशास्त्र, राजनीति विज्ञान, इतिहास, अंग्रेजी, शिक्षा शास्त्र एवं सैन्य विज्ञान)-120 सीट प्रति विषय
  • बीकॉम- 160 सीटें
  • बीएससी (जेडबीसी)-60 सीटें
  • बीएससी (पीसीएम)-60 सीटें
  • बीएससी (गृह विज्ञान)-60 सीटें
  • स्नातकोत्तर में यह है विषय
  • एमए (हिन्दी, शिक्षाशास्त्र एवं राजनीति विज्ञान)-30 सीट प्रति विषय

एमकेपी में पहले दिन 108 दाखिले

एमकेपी पीजी कॉलेज में बुधवार को दाखिले के पहले दिन स्नातक में 108 छात्राओं ने दाखिला लिया। कॉलेज की प्राचार्य डॉ. साधना गुप्ता ने बताया कि पहले दिन बीए में 86, बीकॉम में 21 जबकि बीएससी में एक छात्रा ने दाखिला लिया। उन्होंने कहा कि दाखिले के लिए अभी तीन दिन और शेष हैं। शनिवार दोपहर दो बजे तक दाखिले लिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इस वर्ष कॉलेज में सबसे अधिक कटऑफ  बीएससी में 75.60 फीसद तक गई। हालांकि वर्ष 2018 में बीएससी की कटऑफ 77.20 फीसद तक पहुंची थी। इस वर्ष बीए की कटऑफ पिछले वर्ष की तुलना में तीन फीसद अधिक गई। इस वर्ष बीए की कटऑफ 56.80 फीसद रही, जबकि 2018 में 53.60 फीसद रही थी। बीकॉम में सामान्य वर्ग की कटऑफ 61.40 फीसद रही। कॉलेज में बीए में 1287 सीटें निर्धारित हैं। जबकि बीएससी में 431 सीट व बीकॉम में 483 सीटें निर्धारित हैं।

डीएवी में आज से स्नातक में दाखिले

डीएवी पीजी कॉलेज में गुरुवार से स्नातक प्रथम वर्ष में दाखिला प्रक्रिया आरंभ होगी। पहली कटऑफ लिस्ट में स्थान पाने वाले छात्र-छात्राएं बीए, बीएससी एवं बीकॉम में दाखिला ले सकते हैं। गुरुवार से ही ग्रीष्मकालीन अवकाश के बाद पहली बार डीएवी कॉलेज खुल रहा है। प्राचार्य डॉ. अजय सक्सेना ने बताया कि कैंपस खुलते ही प्रथम वर्ष के अलावा अन्य कक्षाओं की सेमेस्टर पढ़ाई आरंभ हो जाएगी। पहली कटऑफ में स्थान पाने वाले छात्र-छात्राओं को बीए, बीएससी व बीकॉम प्रथम वर्ष में दाखिले के लिए गुरुवार से सोमवार तक सुबह साढ़े नौ बजे से दोपहर दो बजे तक दाखिला कमेटी के सम्मुख अपने सभी शैक्षिक प्रमाणपत्र प्रस्तुत करने होंगे। गैर मान्यता प्राप्त शिक्षा बोर्ड से 12वीं पास करने वाले अभ्यर्थियों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा और फर्जी डिग्री पकड़े जाने पर पुलिस में मामला दर्ज भी करवाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें: यहां निजी मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में सवर्ण आरक्षण का लाभ नहीं, जानिए

यह भी पढ़ें: महज 21 फीसद अंक पर भी सरकारी कॉलेज, पढ़िए पूरी खबर

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस