संवाद सूत्र, रायवाला : हरिपुरकलां में जर्जर सीवर लाइन स्थानीय लोगों के लिए परेशानी का सबब बनी हुई है। आए दिन सीवर लाइन चोक होने से गंदा पानी सड़क पर बहने लगता है। समस्या के स्थायी समाधान के लिए कोई अब तक ठोस प्रयास नहीं हुए, जिसकी वजह से लोगों को मुसीबत झेलनी पड़ रही है। यह समस्या हाल-फिलहाल नहीं बल्कि आठ साल से लगातार बनी हुई है। अब समस्या के निदान की मांग को लेकर ग्रामीण आर-पार के मुड़ में आ गए हैं।

बुधवार को ग्रामीणों ने बैठक कर समस्या का निराकरण न होने पर रोष जताया। ग्रामीणों ने कहा कि सीवर लाइन जर्जर है। आए दिन सीवर चोक होने से गंदा पानी सड़क पर बहने लगता है। बरसात के मौसम में यह समस्या और बढ़ जाती है। जूना अखाड़ा के अंतरराष्ट्रीय संगठन मंत्री विनोद गिरि महाराज, समाजसेवी प्रेमलाल शर्मा, नरेंद्र कोठारी ने प्रशासन पर गांव की उपेक्षा का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि न केवल सीवर बल्कि सड़कों की हालत भी जर्जर है। सीवर लाइन का गंदा पानी गंगा में पहुंचने से लोगों व सन्त समाज की धाíमक भावना आहत होती है। यह समस्या लम्बे समय से बनी हुई है। शिकायत के बाद भी विभागीय अधिकारी इसकी सुध नहीं ले रहे हैं। ग्रामीणों ने मांग की कि जर्जर सीवर लाइन को दुरुस्त किया जाए और पूरे गांव को सीवर लाइन की सुविधा से जोड़ा जाए। बैठक में तय किया कि यदि एक सप्ताह के भीतर सीवर लाइन की समस्या के निराकरण नहीं किया गया तो आंदोलन शुरू किया जाएगा। बैठक का संचालन प्रेमलाल शर्मा ने किया। बैठककें विक्रांत भारद्वाज, तुषार कपिल, राजेश लखेड़ा, कमलदास महाराज, राम मनोहर तिवारी, नरेंद्र कोठारी, सीमा कोठारी, पूजा शर्मा, राजवीर तोमर, सोहनवीर राणा, राजकुमार शर्मा, अनिल शर्मा, लक्ष्मी कंडवाल, डिपल, भानू प्रताप शुक्ला, चौधरी खिलाड़ी राम आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप