संवाद सूत्र, रायवाला : एक मान्यता पर दो जगह चल रहे आनंदमयी स्कूल की एक ब्रांच को शिक्षा विभाग ने बंद करा दिया है। विद्यालय प्रबंधन द्वारा शिक्षा अधिकार अधिनियम (आरटीई) का उल्लंघन करने पर यह कार्रवाई की गई है।

गौहरीमाफी स्थित आनंदमयी स्कूल बिना आरटीई मान्यता के संचालित हो रहा था। इतना ही नहीं विद्यालय एक ही मान्यता पर दो अलग-अलग जगह पर संचालित किया जा रहा था। विभाग की इस कार्रवाई के बाद स्कूल प्रबंधन ने रायवाला बाजार स्थित ब्रांच को बंद कर दिया है। इस स्कूल में पढ़ रहे बच्चे गौहरीमाफी स्थित विद्यालय में शिफ्ट किए जाएंगे। वहीं आनन्दमयी स्कूल ने अब तक आरटीई के तहत मान्यता भी नहीं ली। जिस पर विभाग ने स्कूल को सख्त हिदायत दी और आरटीई के तहत होने वाले ऐडमिशन पर रोक लगा दी है। स्कूल को जल्द मान्यता लेने की प्रक्रिया पूरी करने को कहा गया है।

16 साल से चल रही स्कूल की ब्रांच विभाग को खबर नहीं

दरअसल शिक्षा विभाग की नियमावली व शिक्षा अधिकार अधिनियम में यह स्पष्ट प्रावधान है कि प्रत्येक विद्यालय को आरटीई के अन्तर्गत मान्यता लेनी जरूरी है। दूसरा यह कि कोई भी विद्यालय एक मान्यता पर केवल एक ही स्थान पर विद्यालय संचालित करेगा। दूसरी ब्रांच स्थापित नहीं करेगा। दूसरी जगह पर विद्यालय संचालित करने के लिए अलग से मान्यता लेनी जरूरी है। रायवाला में आनंदमयी स्कूल की ब्रांच 16 साल से चल रही है। 2009 में आरटीई एक्ट लागू होने के बाद भी यह विद्यालय बिना आरटीई मान्यता के चलता रहा। हैरत की बात है कि विभाग को अब तक इसकी खबर नहीं लगी।

------

रायवाला आनंदमयी स्कूल को बंद किया गया है। क्योंकि यह बिना मान्यता के चल रहा था। अगर अब भी स्कूल चलता पाया गया तो प्रबंधन पर प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी। विद्यालय ने आरटीई की मान्यता भी नहीं ली थी। जब तक विद्यालय को मान्यता नहीं मिल जाती तब तक आरटीई एक्ट में ऐडमिशन नहीं हो सकेंगे। ऐसे अन्य स्कूलों पर भी जल्द कार्रवाई की जाएगी।

- अनीता चौहान, उपखंड शिक्षा अधिकारी, डोईवाला

---------------------

इस स्कूल की शिकायत आई थी इसकी जांच उपखंड शिक्षा अधिकारी को दी गई थी। इसी के तहत कार्रवाई की गई है।

आरएस रावत, डीईओ बेसिक

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस