देहरादून, जेएनएन। विश्व हिंदु परिषद से जुड़ी साध्वी प्राची ने बेटियों को सलाह दी कि वे अपने पर्स में लिपिस्टिक- बिंदी के साथ एक छोटा चाकू भी जरूर रखें ताकि कोई दरिंदा आंख उठाने का साहस न करे। उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का विरोध करने वालों पर भी निशाना साधते हुए कहा कि जो लोग खुद को हिंदुस्तानी नहीं मानते उन्हें देश छोड़ देना चाहिए।    

रविवार को देहरादून हिंदू जागरण मंच ने महानगर वीरांगना वाहिनी की ओर से बालावाला में महिला संवर्धन सम्मेलन का आयोजन किया गया। इसमें शिरकत करने पहुंची साध्वी प्राची महिलाओं के साथ हो रही घटनाओं पर चिंता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि समाज में महिलाओं पर सबसे बड़ी जिम्मेदारी है। उन्हें घर और घर से बाहर दोहरे दायित्व निभाने होते हैं। इसलिए महिलाओं को चाहिए कि यदि कोई उनकी तरफ गंदी नजर से देखे तो उसे ज्वाला का रूप लेकर भस्म कर दो।

बेटियों को ब्यूटी पार्लर भेजें या न भेजें, लेकिन बेटियों को आत्मरक्षा के गुर जरूर सिखाएं। हैदराबाद गैंगरेप मामले में उन्होंने कहा कि दरिंदों ने एक बेटी के साथ जो किया उससे बच्चे-बच्चे में उबाल था। ऐसे कृत्य करने वालों पर ना कोई दलील, न कोई अपील मौके पर ही कार्रवाई होनी चाहिए। हैदराबाद में जब पुलिस ने कार्रवाई की तो कुछ संगठन खड़े हो गए। दुख हुआ कि दरिंदों को बचाने के लिए ऐसे संगठन खड़े हो जाते हैं। 

यह भी पढ़ें: Citizenship Amendment Act: सीएए के विरोध में सड़कों पर उतरी भीम आर्मी, कानून रद्द करने की मांग

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस