राज्य ब्यूरो, देहरादून। उत्तराखंड में सड़क दुर्घटनाओं का ग्राफ एक बार फिर बढ़ने लगा है। अप्रैल माह में राज्य में 516 सड़क दुर्घटनाएं हुई हैं। इनमें 311 की मौत हुई और 432 लोग घायल हुए। उत्तराखंड में प्रतिवर्ष औसतन 1800 से 2000 सड़क दुर्घटनाएं होती हैं। इनमें औसतन 800 लोगों की मृत्यु होती है। इस लिहाज से अप्रैल का माह दुर्घटनाओं के लिहाज से काफी भारी पड़ा है।

प्रदेश में सड़क दुर्घटनाओं से होने वाली कुल मौत में से 38 फीसद मौत केवल इसी माह में हुई हैं। चिंताजनक यह है कि दुर्घटनाओं के लिहाज से मैदानी जिले यानी देहरादून, हरिद्वार, ऊधमसिंह नगर और नैनीताल के साथ ही पर्वतीय जिलों यानी टिहरी व पौड़ी में भी इनकी संख्या बढ़ी है। हाल ही में परिवहन आयुक्त दीपेंद्र कुमार चौधरी की समीक्षा बैठक मे ये बात सामने आई।

उन्होंने इस पर चिंता जताते हुए प्रदेश के सभी जिला मजिस्ट्रेट और जिला स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति के अध्यक्षों को पत्र लिखकर सड़क दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने को आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने इसके लिए दुर्घटना स्थलों का निरीक्षण कर दुर्घटनाओं के कारणों का पता लगाकर इसी सूचना सड़क सुरक्षा समिति की लीड एजेंसी को देने को कहा है, ताकि दुर्घटनाओं पर रोक लगाने को उचित दिशा निर्देश जारी किए जा सकें। इसके साथ ही उन्होंने परिवहन विभाग व पुलिस से जांच के कार्यों में तेजी लाने के लिए राष्ट्रीय व राज्य राजमार्गों पर इंटरसेप्टर वाहन की तैनाती करने और कानून तोड़ने वाले वाहन स्वामियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के भी निर्देश दिए हैं।

दुर्घटनाओं की संख्या

जिला अप्रैल 2021

चम्पावत- 05

देहरादून- 122

बागेश्वर- 01

पिथौरागढ़- 02

नैनीताल- 71

रुद्रप्रयाग- 04

चमोली- 02

उत्तरकाशी- 07

अल्मोड़ा- 07

टिहरी- 18

ऊधमसिंह नगर- 127

हरिद्वार- 133

पौड़ी- 17

कुल- 516

यह भी पढ़ें- Road Accident In Mussoorie: मसूरी कार गहरी खाई में गिरी, एक की मौके पर ही मौत; तीन घायल

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Raksha Panthri