जागरण संवाददाता, देहरादून। देहरादून में केंद्रीय विद्यालय ओएनजीसी के 10वीं कक्षा के छात्र अनुराग रमोला को गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार अवार्ड से नवाजा जाएगा। कला और संस्कृति में पेंटिंग के लिए अनुराग का नाम इस अवार्ड के लिए चयनित किया गया है। 25 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अनुराग सहित देशभर के विभिन्न राज्यों से चयनित 32 बच्चों से ऑनलाइन संवाद करेंगे।

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय नई दिल्ली की ओर से विभिन्न राज्यों के छात्रों से बीते सितंबर में ऑनलाइन आवेदन मांगे गए थे। जिसमें विभिन्न क्षेत्रों में छात्रों ने आवेदन कर अपने प्रोजेक्ट मंत्रालय को भेजे। इसमें देशभर से 32 छात्र-छात्राओं का चयन अवार्ड के लिए किया गया। कला व संस्कृति की पेंटिंग में देशभर से एकमात्र चयन उत्तराखंड के 16 वर्षीय अनुराग रमोला का हुआ।

अनुराग ने पर्यावरण के खतरे को लेकर पेटिंग बनाई थी। मंत्रालय की संयुक्त सचिव आस्था सक्सेना खटवानी ने उत्तराखंड महिला एवं बाल विकास विभाग के सचिव एचसी सेमवाल को पत्र लिखकर अनुराग के चयन की जानकारी दी। वहीं, विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी अखिलेश मिश्रा ने बताया कि छात्र और परिवार को इस संबंध में सूचित कर दिया है।

अनुराग के पिता नगर निगम में लाइट सेक्शन में हैं इंस्पेक्टर

मूल रूप से रमोलगांव प्रतापनगर टिहरी निवासी अनुराग रमोला का परिवार देहरादून चंदर नगर में रहता है। पिता चैत सिंह नगर निगम में लाइट सेक्शन में इंस्पेक्टर हैं, जबकि मां सुनीता रमोला गृहणी हैं। अनुराग का बड़ा भाई शिवांग रमोला भी केवि ओएनजीसी में 12वीं का छात्र है। 

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड: कल एक दिन की CM बनेंगी सृष्टि, बालिकाओं की सुरक्षा पर रहेगा फोकस; जानें- उनके बारे में

Edited By: Raksha Panthri