देहरादून, जेएनएन। निरंजनपुर मंडी समिति अपनी आय बढ़ाने के लिए परिसर की सभी दुकानों का किराया दोगुना करने की तैयारी में है। इसके लिए प्रस्ताव भी बनाया जा चुका है। वहीं, विक्रय एवं भंडारित की जाने वाली सभी गैर अधिसूचित वस्तुओं-सामग्री पर यूजर चार्ज भी बढ़ाया जाएगा। इसके अलावा मंडी की आय बढ़ाने के लिए गैर कृषक वाहनों से प्रवेश शुल्क वसूलने की भी योजना है। 

मंडी समिति की समीक्षा बैठक में आय बढ़ाने पर चर्चा की गई। लॉकडाउन के बाद समिति की पहली समीक्षा बैठक में मंडी अध्यक्ष राजेश शर्मा ने लॉकडाउन के दौरान मंडी की ओर से दी गई सेवाओं की समीक्षा की। उन्होंने मंडी सचिव समेत सभी कार्मिकों की सराहना करते हुए कहा कि विषम परिस्थितियों में भी सभी ने दायित्वों का सफलतापूर्वक निर्वहन किया। 

बैठक में मंडी सचिव विजय प्रसाद थपलियाल ने बताया कि प्रदेश में कृषि उपज और पशुधन विपणन अध्यादेश के तहत प्रांगण के बाहर फल-सब्जियों के विक्रय पर मंडी शुल्क समाप्त किया गया है। इससे मंडी की आय पर खासा प्रभाव पड़ा है। इस पर अध्यक्ष राजेश शर्मा ने बताया कि लॉकडाउन के बाद से मंडी समिति की आय में खासी गिरावट आई है। अब मंडी की आय बढ़ाने को वृहद स्तर पर कार्य किए जाएंगे।

इसके लिए विक्रय एवं भंडारित की जाने वाली समस्त गैर अधिसूचित वस्तुओं-सामग्री पर यूजर चार्ज एक से बढ़ाकर दो फीसद करने का प्रस्ताव है। इसी तरह मंडी में व्यापरियों को आवंटित दुकानों के किराये में 100 फीसद वृद्धि का भी प्रस्ताव रखा गया है। साथ ही मंडी परिसर में संचालित जैविक खाद संयंत्र के स्थान पर कोल्ड स्टोरेज, ग्रेडिंग व साटिंग यूनिट लगाए जाने की भी तैयारी है। बैठक में मंडी निरीक्षक अजय डबराल, हरीश कोहली, प्रीतम डिमरी, दिनेश डोभाल, मंडी सहायक विकास चौधरी, प्रवेश शर्मा, स्नेहलता आदि शामिल हुए।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: कोरोना ने तोड़ी सब्जी कोरोबारियों की कमर, मजदूर और माल का अकाल

वाहनों पर प्रवेश शुल्क 

मंडी की आय बढ़ाने के लिए गैर कृषक छोटे वाहनों (बाइक-स्कूटर, कार आदि) से 50 रुपये और बड़े वाहनों से 100 रुपये प्रवेश शुल्क वसूलने की तैयारी है। साथ ही मंडी के विस्तारीकृत परिसर में वाहन पार्किंग  ठेके पर देने का भी प्रस्ताव है। डेयरी उत्पादों की बिक्री के लिए भी मंडी में स्थान दिया जाएगा और यूजर चार्ज लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: पटरी पर नहीं उतरा फल-सब्जी का कारोबार, स्थानीय किसानों पर नजर

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस