संवाद सहयोगी, विकासनगर: पिछले दो साल से सफाई की बेहतर व्यवस्था नहीं होने के चलते सेंट्रल होपटाऊन में स्थिति बेहद गंभीर बनी हुई है। जबकि सेलाकुई को नगर पंचायत का दर्जा मिल चुका है, इसके बावजूद अभी तक नगर पंचायत के हिसाब से यहां अधिकारियों की नियुक्ति नहीं हो सकी है। क्षेत्रवासियों का कहना है कि यदि समय से सफाई व्यवस्था और सड़क निर्माण आदि के संबंध में आवश्यक कदम नहीं उठाए गए तो बरसात का मौजूदा समय क्षेत्र के लिए किसी मुसीबत से कम नहीं होगा।

सेंट्रल होपटाऊन में चार मजरे सेलाकुई, हरिपुर, बहादुरपुर और जमनपुर शामिल हैं। उत्तराखंड बनने के बाद हुए सेलाकुई के औद्योगिक विस्तार के बाद सेंट्रल होपटाऊन की तस्वीर बदली है। काफी कम जनसंख्या वाले इस क्षेत्र में फिल्हाल सत्तर हजार के आसपास जनसंख्या निवास कर रही है। क्षेत्र के बढ़ते स्वरूप के कारण प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने सेंट्रल होपटाऊन को ग्राम पंचायत से नगर पंचायत में बदल दिया था, नगर पंचायत का कार्यालय खुलने के साथ ही अधिकारी व कर्मचारी काम करने लगे थे, लेकिन कोर्ट में जाने से मामला कई साल तक उलझा रहा। अब नगर पंचायत का दर्जा मिलने के बाद सबसे बड़ी चुनौती क्षेत्र की सफाई व्यवस्था की है। दो साल से ठप पड़े सफाई के कार्य से क्षेत्र की लगभग सभी नालियां चोक हो चुकी हैं। इसके साथ ही जगह-जगह लगे कूड़े के ढेर क्षेत्रवासियों के लिए मुसीबत बने हुए हैं। जमनपुर निवासी और कांग्रेस के प्रदेश सचिव आकिल अहमद, सेंट्रल होपटाऊन के पूर्व ग्राम प्रधान भगत सिंह राठौर, पूर्व जिला पंचायत सदस्य सुमित चौधरी का कहना है कि नगर पंचायत का दर्जा मिल जाने के बाद क्षेत्र में सफाई अभियान चलाने की आवश्यकता है, यदि इस कार्य में देरी की गई तो बरसात के मौसम में क्षेत्र के निवासियों के सामने जलभराव व गंदगी गंभीर समस्या बनेगी। उनका कहना है कि नगर पंचायत सेलाकुई में अधिशासी अधिकारी व अन्य स्टाफ की नियुक्ति करके योजनाबद्ध तरीके से काम किया जाना चाहिए।

--------------

प्रशासन के स्तर से सेलाकुई क्षेत्र की समस्याओं के निस्तारण का कार्य शुरू कर दिया गया है। अभी किराये पर एक ट्रैक्टर की व्यवस्था करके सफाई का काम शुरू किया गया है। आने वाले समय में नालियों की सफाई, पथ प्रकाश व अन्य सभी कार्यों को संचालित किया जाएगा। सौरभ असवाल, एसडीएम विकासनगर।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप