जागरण संवाददाता, देहरादून : मानदेय वृद्धि समेत अन्य मांगों को लेकर आंदोलनरत आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का धरना जारी है। सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर कार्यकर्ता आक्रोश व्यक्त कर रही हैं। साथ ही बेमियादी अनशन पर राजबाला, विद्या, ज्योतिबाला, ममता जोशी, सुनीता भट्ट और गुड्डी डटे हुए हैं।

मानदेय बढ़ोत्तरी, फोन से शर्ते हटाने व अन्य भत्तों की मांग को लेकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पिछले करीब डेढ़ माह से परेड मैदान स्थित धरना स्थल पर डटी हुई हैं। मिनी कर्मचारी संगठन की अध्यक्ष रेखा नेगी ने कहा कि लगातार चल रहे धरने के बाद अब कुछ कार्यकर्ता बेमियादी अनशन पर हैं। जब तक सरकार उनकी मांगों को पूरा नहीं करती वे आंदोलन से पीछे नहीं हटेंगी। संगठन की महामंत्री सुमति थपलियाल ने कहा कि कार्यकर्ता धूप, बारिश और ठंड में भी अनशन पर बैठी हुई हैं, लेकिन सरकार के कान में जूं तक नहीं रेंग रही है। उन्होंने कहा कि चाहे जो हो जाए वे हर हाल में अपना हक लेकर रहेंगे। इस दौरान मीनाक्षी रावत, बीना, मीना, मधुरवादिनी, सरोजनी, बसंता, कविता, गीता, मंजू आदि उपस्थित रहीं।

अन्याय कर रही सरकार

सीटू से संबद्ध आगनबाड़ी कर्मचारी सेविका कर्मचारी यूनियन ने बैठक कर आंदोलन की रणनीति पर चर्चा की। वक्ताओं ने उत्तराखंड सरकार पर अन्याय करने का आरोप लगाया। कहा कि आंदोलनरत कार्यकर्ताओं और सेविकाओं पर कार्रवाई कर उनकी आवाज को दबाने का प्रयास किया जा रहा है। वक्ताओं ने बाल विकास मंत्री रेखा आर्य पर गलत बयानबाजी का आरोप लगाया। कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सेविकाओं के तीन घंटे ही कार्य करने का बयान निराधार है। उन्होंने चेतावनी दी कि अब वृहद आदोलन किया जाएगा। इस अवसर पर प्रातीय महामंत्री चित्रकला, लक्ष्मी पंत, उर्मिला, रजनी गुलेरिया, मीना वर्मा, मधुबाला, शीला बहुगुणा, सोमबाला आदि उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस