ऋषिकेश, जेएनएन। विश्व हिंदू परिषद व बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने उप जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन प्रेषित किया है। इसमें उन्होंने पश्चिम बंगाल में हिंदुओं की हत्या पर रोष जताते हुए कार्यवाही करने की मांग की है।

विहिप व बजरंग दल की ओर से तहसीलदार रेखा आर्य को ज्ञापन सौंपा गया। इसमें राष्ट्रपति से पश्चिम बंगाल सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगाए जाने, बंधु प्रकाश पाल व परिवार की हत्याकांड की सीबीआइ जांच कराने, पश्चिम बंगाल में एनआरसी लागू किए जाने और बांग्लादेशी घुसपैठियों को वापस बांग्लादेश भेजे जाने की मांग की गई। 

हिंदू संगठनों ने कहा कि पश्चिम बंगाल में रहने वाले राष्ट्र विरोधी असामाजिक तत्वों की पहचान कर उन सब पर कानूनी कार्रवाई की जाए। ज्ञापन देने वालों में विश्व ङ्क्षहदू परिषद के प्रांत सह मंत्री दिलीप मिश्रा, बजरंग दल के जिला संयोजक आशीष अग्रवाल, नगर संयोजक कपिल मुनि, शिवम गुप्ता, योगेश शर्मा, शैलेंद्र भंडारी आदि शामिल रहे।

छात्रों ने किया समाज कल्याण दफ्तर का घेराव

वर्ष 2016 के छात्रवृति फार्मों में त्रुटियों के कारण निरस्त हुए आवेदनों का मामला अभी तक नहीं सुलझ पाया है। इसलिए उस समय आवेदन करने वाले छात्र परेशान भटक रहे हैं। छात्रों ने समाज कल्याण दफ्तर का घेराव किया और जल्द छात्रवृत्ति जारी कराने की मांग की। 

समाज कल्याण अधिकारी को सौंपे ज्ञापन में उन्होंने कहा कि फार्म निरस्त करने वक्त जल्द छात्रवृत्ति जारी कराने का आश्वासन दिया गया था, मगर अभी तक किसी भी छात्र को छात्रवृत्ति नहीं मिली। हालांकि बाद में छात्रों को कार्रवाई का आश्वासन दिया गया, जिस पर वह शांत हुए। 

यह भी पढ़ें: खट्टर ने किया देश की महिलाओं का अपमान: प्रीतम सिंह

उधर, डीएवी कॉलेज के छात्रसंघ महासचिव ने कहा कि पंचायत चुनाव होने के कारण तहसील में कार्यरत कर्मचारियों की चुनाव ड्यूटी लगाई गई है। जिस कारण प्रमाणपत्र नहीं बन पा रहे हैं। इसलिए छात्रवृत्ति आवेदन का समय बढ़ाया जाए।

यह भी पढ़ें: अल्मोड़ा में 24 अक्‍टूबर को त्रिवेंद्र कैबिनेट की बैठक, पर्वर्तीय क्षेत्र में यह तीसरी बैठक होगी 

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप