राज्य ब्यूरो, देहरादून

कांग्रेस छोड़ चुके नेताओं की वापसी को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की टिप्पणी पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने सधी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि अभी यह स्थिति 'सूत न कपास, जुलाहों में लट्ठम-लट्ठ' सरीखी है। पार्टी में जो भी आना चाहेगा, उस बारे में राष्ट्रीय नेतृत्व निर्णय लेगा। उन्होंने मुख्यमंत्री के बाहरी लोगों के प्रदेश में माहौल बिगाड़ने संबंधी बयान पर तल्ख टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि राज्यों में आने के लिए त्रिवेंद्र सरकार से वीजा लेने की जरूरत नहीं है।

दिल्ली दौरे से लौटने के बाद शुक्रवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में प्रीतम सिंह ने मीडिया से बात की। पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत के पार्टी छोड़ चुके नेताओं की वापसी के संबंध में दिए गए बयान को प्रदेश अध्यक्ष ने फिलहाल औचित्यहीन करार दिया। उन्होंने कहा कि रावतजी वरिष्ठ नेता हैं, लेकिन पार्टी में कौन आएगा, कौन नहीं, इस बारे में हाईकमान को निर्णय लेना है। इस संबंध में पार्टी के दरवाजे खुले हैं।

सीएम के बयान की निंदा की

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के हल्द्वानी में सीएए-एनआरसी को लेकर धरना-प्रदर्शन के संबंध में दिए गए बयान की निंदा की। उन्होंने कहा कि देश के लोग एकदूसरे राज्यों में आवाजाही के लिए स्वतंत्र हैं। मुख्यमंत्री बाहर से आने वाले लोगों पर आरोप लगाकर प्रदेश की बदहाल अर्थव्यवस्था, महंगाई, बेरोजगारी के मुद्दे से जनता का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे हैं।

प्रदेश कमेटी की घोषणा जल्द

उन्होंने कहा कि प्रदेश कांग्रेस की नई कमेटी छोटी और संतुलित होगी। इसकी घोषणा जल्द होगी। उन्होंने बताया कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की शहादत दिवस 30 जनवरी को प्रदेशभर में जिला मुख्यालयों में एकता सम्मेलन आयोजित किए जाएंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस