देहरादून, जेएनएन। लॉकडाउन के चलते देहरादून में फंसे बिहार के लोगों को उनके राज्य पहुंचाने के लिए जिलाधिकारी देहरादून डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने मंडल रेल प्रबन्धक मुरादाबाद को पत्र लिखा है। जिसमें उन्होंने जल्द दो-दो ट्रेन चलाने की मांग की है।

देहरादून रेलवे स्टेशन निदेशक गणोश चंद ठाकुर ने बताया कि उन्हें जिलाधिकारी का पत्र मिला है। मंडल स्तर पर इसे लेकर मीटिंग चल रही है। अभी तक मुरादाबाद मंडल से ट्रेन संचालन के निर्देश नहीं मिले हैं। देहरादून स्टेशन पर फिलहाल एसी रेक खड़े हैं। स्लीपर व जनरल रेक अन्य स्टेशनों पर भिजवा दिए थे। ट्रेनों के संचालन के लिए स्लीपर व जनरल रेक भी उपलब्ध होने जरूरी हैं।

बिहार के लोगों को घर भेजने के लिए बनाई रणनीति

रविवार रात एसपी सिटी श्वेता चौबे ने पुलिस लाइन में बैठक की। इस दौरान बिहार के लोगों को थानों से रेलवे स्टेशन तक पहुंचाने और अन्य व्यवस्थाओं को लेकर चर्चा की गई। बिहार जाने वालों की संख्या 25 से 30 हजार तक हो सकती है।

जिलाधिकारी ने इन स्टेशनों के लिए ट्रेनों की मांग की है

  • देहरादून से अररिया, कटिहार
  • देहरादून से खगड़िया, बक्सर, दानापुर, बरौनी
  • देहरादून से बेतिया, मोतिहारी
  • देहरादून, किशनगंज, बरौनी

अहमदाबाद से पहुंचे यात्री, पश्चिम बंगाल को रवाना

प्रदेश में दूसरे राज्यों से यात्रियों के आने का क्रम जारी है। इस कड़ी में सोमवार तड़के हैदराबाद से तकरीबन 1200 यात्रियों के पहुंचने की संभावना है। रविवार को 1188 से अधिक यात्रियों को लेकर एक श्रमिक ट्रेन पश्चिम बंगाल को रवाना हुई। यह ट्रेन वापसी में वहां से उत्तराखंड के फंसे हुए 650 से अधिक यात्रियों को लेकर वापस आएगी। अभी तक प्रदेश में वापसी के लिए 2,23,143 यात्री ऑनलाइन पंजीकरण करा चुके हैं। इनमें से 98,840 वापस आ चुके हैं।

दूसरे राज्यों में फंसे हुए लोगों के उत्तराखंड आने का सिलसिला जारी है। फंसे हुए लोग ट्रेन, बसों और अपने वाहनों से वापस आ रहे हैं। इसके साथ ही प्रदेश सरकार दूसरे राज्यों में भी लोगों को भेज रही है। इस कड़ी में हरिद्वार से पश्चिम बंगाल को रविवार को श्रमिक ट्रेन रवाना की गई। रविवार को देर शाम अहमदाबाद से ट्रेन तकरीबन 1400 यात्रियों को लेकर ट्रेन लालकुंआ पहुंची। सोमवार तड़के हैदराबाद और मंगलवार तड़के गोवा से यात्रियों को लेकर ट्रेन हरिद्वार पहुंचेगी। इसके अलावा गुजरात, तेलंगाना, पुणो, सूरत, दिल्ली, गोवा, तिरुअनंतपुरम , चेन्नई और अन्य राज्यों से फंसे हुए यात्रियों को वापस लाने की प्रक्रिया चल रही है।

यह भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल के प्रवासियों को लेकर हरिद्वार से रवाना हुई श्रमिक स्पेशल Haridwar News

दूसरी ओर, अन्य राज्यों में जाने के लिए 37564 लोग पंजीकरण करा चुके हैं। इनमें से 20855 को संबंधित प्रदेशों में भेज दिया गया है। उत्तर प्रदेश से उत्तराखंड आने के लिए 6100 लोगों को पास जारी किए गए हैं। उत्तर प्रदेश से ट्रेन के जरिये 56258 लोगों को लाने और उत्तर प्रदेश के 13684 लोगों को भेजने की प्रक्रिया भी चल रही है। उत्तराखंड आने वाले सभी प्रवासियों को ई-पास भी जारी किए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: पैदल मार्ग में तब्दील होता जा रहा है रेलवे ट्रेक, हादसे का डर

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस