देहरादून, जेएनएन। Coronavirus कोरोना महामारी से निपटने की चुनौतियां लगातार बढ़ रही हैं। हर दिन कोरोना और इससे होने वाली मौतों का ग्राफ भी बढ़ता जा रहा है। जब तक कोई वैक्सीन नहीं आ जाती या मुकम्मल इलाज की व्यवस्था नहीं हो जाती तब तक सावधानी बरतने में ही भलाई है। मैं अक्सर देखता हूं कि कुछ लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। ऐसा करके वे अपनी जान को जोखिम में डालने के साथ ही दूसरों को भी खतरे में डाल रहे हैं। ये कहना है प्रेमनगर अस्पताल के वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. मुकेश सुंदरियाल का। 

डॉ. सुंदरियाल का कहते हैं कि बहुत ज्यादा जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलें और बाजार, दुकान, कार्यालय और अन्य सार्वजनिक स्थलों पर शारीरिक दूरी का जरूर ख्याल रखें। यह भी देखा गया है कि जब दो लोग आपस में बात करते हैं तो अक्सर मास्क उतार देते हैं, जो खतरनाक है। यह सोचना गलत है कि वो मेरा सहकर्मी, मेरा दोस्त या मेरा रिश्तेदार है तो उससे बिना मास्क बात कर सकता हूं। संक्रमण किसी को भी किसी से भी हो सकता है। 

मास्क लगाते समय नाक को बाहर निकाले रखना भी इसकी उपयोगिता को खत्म कर देता है। ऐसे में इसे लेकर सावधानी बरतें। शरीर को पर्याप्त पोषण मिले इसके लिए अपने भोजन का भी पैटर्न बदलें। अभी के समय में प्रोटीन, विटामिन, कार्बोहाइड्रेट समेत सभी प्रकार के पोषक तत्व शरीर को मिलने चाहिए। इसके लिए भारतीय थाली आदर्श है। अच्छा खाने से हमारी इम्युनिटी बढ़ेगी और हम कोरोना से बचे रहेंगे।

इम्युनिटी बढ़ाने की होड़ में कहीं हो न जाए नुकसान

कोरोना संक्रमण को देखते हुएइम्युनिटी बढ़ाने के लिए लोग कई तरह की कोशिश करने में जुट गए हैं। ऐसे में विशेषज्ञों का कहना है कि रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का कोई जादुई फॉर्मला नहीं है। यह एक लंबी प्रक्रिया है। इसलिए इम्युनिटी बढ़ाने के उपाय करें, लेकिन संतुलन न बिगाड़े। किसी भी उत्पाद का अनुशंसित मात्रा में उपयोग करने से कोई नुकसान नहीं होता है। लेकिन, कई ने खुराक, उपभोग के तरीके और पहले से चल रही दवाओं के साथ तालमेल बैठाए बिना तरह-तरह की दवाओं का सेवन शुरू कर दिया है, जो नुकसानदेह है। 

डॉक्‍टर की सलाह के बिना न लें कोई दवा

कोरोना वायरस से जंग जीतने में जिंक, विटामिन सी और डी मददगार बनी हैं। ऐसे में इन दवाओं की खपत भी बढ़ गई है। गांधी शताब्दी अस्पताल के वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. प्रवीण पंवार का कहना है कि इम्यून सिस्टम एक-दो दिन या एक-दो हफ्तों में मजबूत नहीं होता। इसके लिए आपको नियमित रूप से अपने खानपान और लाइफस्टाइल से जुड़ी कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना होता है।

यह भी पढ़ें: Coronavirus के मामले बढ़े तो खुलने लगी इंतजामों की पोल, आगे और भयावह हो सकते हैं हालात

हर व्यक्ति के शरीर की जरूरत अलग होती है, इसलिए विटामिन-सी या कोई भी सप्लीमेंट का प्रयोग बिना डॉक्टर की सलाह नहीं करना चाहिए। कुदरती आहार के माध्यम से शरीर में पोषक तत्वों की पूर्ति ही सवरेत्तम तरीका है। उन्होंने बताया कि जिंक और विटामिन-सी हमारे शरीर के लिए बहुत ही आवश्यक हैं। जिंक का डीएनए निर्माण, स्वाद परखने, चोट लगने पर जल्द सूखने के साथ ही प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में अहम योगदान होता है। हालांकि, अधिक मात्रा में सेवन से इसका दुष्प्रभाव भी अधिक होता है। 

यह भी पढ़ें: Coronavirus के मामले बढ़े तो खुलने लगी इंतजामों की पोल, आगे और भयावह हो सकते हैं हालात

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस