देहरादून, जेएनएन। रायपुर क्षेत्र के बालावाला स्थित घर से आत्महत्या करने निकले युवक की पुलिस की तत्परता से जान बच गई। जब तक वह कोई आत्मघाती कदम उठा पाता, पुलिस उस तक पहुंच गई। उसे समझाने के बाद परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया। 

जानकारी के अनुसार, बालावाला पुलिस चौकी के कांस्टेबिल देवी प्रसाद सती तुनवाला क्षेत्र में साप्ताहिक बंदी का मुआयना कर रहे थे। तभी उन्हें जगदीश प्रशाद भट्ट निवासी मियांवाला मिले। उन्होंने बताया कि उनका बेटा शंभू की तबीयत खराब चल रही है और वह सुबह घर से कहीं निकल गया। 

काफी तलाश के बाद भी उसका पता नहीं चल रहा है। वह अक्सर आत्महत्या कर लेने की बात कहता रहता था। इस पर कांस्टेबिल देवी प्रसाद ने रेलवे पटरी तुनवाला, मियांवाला से गुलरघाटी की तरफ युवक की तलाश शुरू कर दी। शंभू रेल की पटरी पर बैठा मिला। पुलिस ने उसे पकड़ा और काफी समझाया। इसके बाद उसे परिजनों के सुपूर्द कर दिया। 

महिला कांस्टेबल ने थाने के सरकारी आवास में लगाई फांसी

हरिद्वार के झबरेड़ा थाने में तैनात महिला कांस्टेबल ने सरकारी आवास  में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। महिला कांस्टेबल का शव रसोई के अंदर दुपट्टे से लटका हुआ मिला। पुलिस ने दरवाजा तोड़कर शव कब्जे में लिया। आत्महत्या की वजह अभी तक पता नहीं चल पाई है।

पुलिस के मुताबिक मंजीता निवासी ग्राम मंदोल थाना त्यूणी जिला देहरादून महिला कांस्टेबल थी। इस समय झबरेड़ा थाने में तैनात थी। मंजीता 2016-17 बैच में पुलिस में भर्ती हुई थी। महिला कांस्टेबल को थाना परिसर में आवास मिला हुआ था। गत शाम काम के सिलसिले में थाने से महिला कांस्टेबल को बुलाने के लिए फोन किया गया। काफी देर तक जब मंजीता का फोन नहीं उठा तो एक पुलिस कर्मी उन्हे बुलाने को कमरे में पहुंचा। 

इस दौरान खिडकी से महिला कांस्टेबल का शव रसोईघर में फंदे से लटका देखा तो शोर मचा दिया। महिला की आत्महत्या से पुलिस  में हड़कम्प मच गया। पुलिसर्मियों ने आवास का दरवाजा तोड़कर शव को बाहर निकाला। शव को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल रुड़की भिजवाया गया है। 

एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्ण राज एस ने बताया कि महिला कांस्टेबल ने आत्महत्या की है। मामले में आगे जानकारी जुटाई जा रही है। पुलिस को मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है अभी तक हम आत्महत्या की वजह पता नहीं चल पाई है।

यह भी पढ़ें: प्रेमी ने शादी से किया इन्कार, युवती ने फांसी लगाकर दी जान Haridwar News

रुड़की में हुआ था तीन दिन पहले तबादला

पुलिस ने बताया कि महिला कांस्टेबल मंजीता का तीन दिन पहले रुड़की में थाने में तबादला हुआ था। अभी तक महिला कांस्टेबल ने वहां तैनाती नहीं ली थी। थाने के पुलिसकॢमयों से भी जानकारी ली गई तो पता चला है कि मंजीता किसी तनाव में भी नहीं थी। आखिर आत्महत्या की क्या वजह रही। इसकी जानकारी जुटाई जा रही है। 

यह भी पढ़ें: देहरादून में तीन युवकों ने की आत्महत्या, काफी वक्त से जूझ रहे थे अवसाद में 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021