जागरण संवाददाता, देहरादून: बुलेट पर माडिफाइड साइलेंसर लगाकर पटाखे फोड़ने वाले चालकों के खिलाफ ट्रैफिक पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की। सितंबर से चलाए अभियान के तहत पुलिस ने 900 बुलेट चालकों को यातायात नियमों का उल्लंघन करते हुए पाया। इनमें से 600 बुलेट सीज की गईं, जबकि माडिफाइड साइलेंसर लगाने वाले 419 बुलेट से साइलेंसर निकाले, जिनके ऊपर शनिवार को रोड रोलर चलाया गया।

सितंबर महीने से चलाया जा रहा है अभियान,  600 वाहन किए गए सीज 

एसएसपी दलीप सिंह कुंवर व एसपी यातायात अक्षय कोंडे ने बताया कि शहर व देहात क्षेत्र में माडिफाइड व रेट्रो साइलेंसर लगाकर ध्वनि प्रदूषण करने वाले वाहन चालकों के विरुद्ध सितंबर महीने से अभियान चलाया जा रहा है। अभियान में पुलिस ने 900 वाहन चालकों के विरुद्ध कार्रवाई की। इनमें से 600 वाहन सीज किए गए। उन्होंने बताया कि माडिफाइड साइलेंसर बेचने वाले दुकानदारों के विरुद्ध भी कार्रवाई की जाएगी। इस संबंध में सख्त कानून बनाने को शासन को प्रस्ताव भेजा जा रहा है। भविष्य में माडिफाइड साइलेंसर लगाने वाले वाहन चालकों व दुकानदारों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

कुछ रूटों पर वन-वे की भी योजना

एसएसपी ने बताया कि दून चौक से द्रोण चौक तक वन-वे करने की योजना बनाई है। इस रूट पर एसएसपी कार्यालय, ट्रैफिक कार्यालय, कोर्ट, डीएम कार्यालय व दून अस्पताल होने के कारण अधिक जाम लगने लगा है। ऐसे में पहले चरण में इस रूट पर वन-वे करने की योजना बनाई गई है। दून चौक से द्रोण चौक तक एक तरफ वाहन आएंगे, जबकि प्रिंस चौक से यदि किसी वाहन चालक को दून अस्पताल जाना है तो उसे द्रोण चौक कट से इन्नामुल्ला बिल्डिंग होते हुए तहसील चौक और यहां से दाहिने घूमकर दून चौक होते हुए दून अस्पताल आना पड़ेगा। इसी तरह दो तीन अन्य सड़कों पर वन-वे करने की योजना है, लेकिन लोगों की राय लेने के बाद ही इसे लागू किया जाएगा।

Edited By: Sunil Negi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट