ऋषिकेश, जेएनएन। मुनिकीरेती थानाक्षेत्र में पूर्णानंद घाट के समीप गंगा का जलस्तर बढ़ने से यहां नदी के बीच एक उभार ने टापू का रूप ले लिया। अचानक बढ़े जलस्तर से पश्चिम बंगाल के तीन पर्यटक टापू पर फंस गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने पर्यटकों को सकुशल बाहर निकाला। 

दरअसल, रविवार को पश्चिम बंगाल का एक दल ऋषिकेश घूमने आया हुआ था। दोपहर करीब एक बजे दल में शामिल तीन लोग नहाने के लिए पूर्णानंद घाट पर चले गए। जब वह गंगा में नहाने गए, तब यहां पानी कम था। लेकिन कुछ ही देर यहां बिताने के बाद जब पर्यटकों ने लौटना चाहा, तो देखा दूसरी ओर पानी भर चुका था और यह जगह एक टापू में तब्दील हो गई थी। 

पर्यटकों ने मदद के लिए काफी आवाज दी, जिसके बाद आसपास के लोगों ने मुनिकीरेती पुलिस को मामले की सूचना दी। सूचना पाकर प्रभारी निरीक्षक आरके सकलानी, वरिष्ठ उपनिरीक्षक संजीत कुमार, चौकी प्रभारी कैलाश गेट वीकेंद्र कुमार, उप निरीक्षक शाहिदा परवीन व जल पुलिस की टीम मौके पर पहुंची।

यह भी पढ़ें: गंगा का जलस्तर बढ़ने से दो विदेशी पर्यटक सहित पांच लोग टापू में फंसे

पुलिस ने राफ्ट और रस्सियों की मदद से टापू में पहुंचकर गंगा की तेज धार से सभी लोगों कुशल बाहर निकाला गया। थाना प्रभारी निरीक्षक आरके सकलानी ने बताया कि पर्यटकों में गौतम मजूमदार, कोनंद चक्रवर्ती और सुशील हलदर सभी निवासी कोलकाता पश्चिम बंगाल शामिल थे। 

यह भी पढ़ें: गंगा के टापू पर फंसे तीन लोग, पुलिस ने सुरक्षित निकाला Dehradun News

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस