देहरादून, जेएनएन। वसंत विहार पुलिस ने क्षेत्र के मिलन विहार से चार ऐसे नशा तस्करों को गिरफ्तार किया है, जो स्मैक की होम डिलीवरी किया करते थे। पुलिस ने बताया कि यह चारों बरेली से नशा लेकर देहरादून पहुंचे थे। उसकी डिलीवरी देने की योजना बना ही रहे है थे, कि तभी चारों को दबोच लिया गया। इसमें से एक पहले भी नशा तस्करी के आरोप में जेल जा चुका है।

एसओ वसंत विहार नत्थीलाल उनियाल ने बताया कि मंगलवार की रात चेकिंग के दौरान मिलन विहार से चार शातिर नशा तस्करों को वाहन सहित गिरफ्तार किया गया।आरोपितों के कब्जे से 10.15 ग्राम स्मैक बरामद हुई है । पकडे गए आरोपितों की पहचान इस्तिफाम उर्फ शमून निवासी संजय कलोनी पटेलनगर, राजेश गुप्ता व गौरव गुप्ता निवासी गांधीग्राम, मोनिस सिद्दकी निवासी सत्तोवाली घाटी के रूप में हुई है। 

पूछताछ में बताया कि सभी स्मैक के आदी हैं। कार से बरेली जाकर वहां से स्मैक खरीदकर देहरादून में महंगे दामो पर बेचते है। सप्लाई को अन्य तरीकों की जानकारी की जा रही है। यह सभी अक्सर लोग की ओर से बताए पते पर स्मैक की डिलीवरी देने जाते थे, जिसमें यह कार का इस्तेमाल करते थे। इस्तिफाम उर्फ समून पिछले साल राजपुर से नशा तस्करी में जेल जा चुका है।

ग्रामीण पर लाठी-डंडों से हमला, मुकदमा 

हरिद्वार जिले के लक्सर में एक ग्रामीण की एक ही परिवार के सदस्यों ने लाठी-डंडों से पिटाई कर दी। पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। लक्सर कोतवाली के खानपुर ब्रहमपुर गांव निवासी सुभाषचंद ने पुलिस को तहरीर देकर बताया कि उनकी बेटी की 18 अक्तूबर को शादी होनी है, लेकिन गांव के ही कुछ व्यक्ति उनकी बेटी की शादी में खलल डालने का प्रयास कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: वि‍कासनगर में पत्नी के साथ स्मैक तस्करी करते हिस्ट्रीशीटर गिरफ्तार

उनके बेटे ने आरोपितों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कराया है। आरोप है कि इसी रंजिश के चलते जब वह अपने भाई की दुकान पर बैठे थे, तभी आरोपितों ने उनके साथ लाठी डंडों से मारपीट की और जान से मारने की धमकी दी। पुलिस ने आरोपित कुंवरपाल, शिवम गोयल, अनीमेष गोयल और लकी निवासीगण ग्राम खानपुर ब्रहमपुर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें: आइपीएल के मैचों पर ऑनलाइन सट्टेबाजी कर रहे अजय जायसवाल और उसके गिरोह पर लगा गैंगस्टर