देहरादून, राज्य ब्यूरो। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का केदारनाथ में रात्रि प्रवास को प्रदेश में चल रही चारधाम यात्रा की दृष्टि से बेहद अहम माना जा रहा है। प्रधानमंत्री के रात्रि प्रवास से न केवल सुरक्षित चारधाम यात्रा का संदेश देश-दुनिया में जाएगा, बल्कि केदारनाथ पुनर्निर्माण के बाद यहां रात्रि विश्राम को लेकर चल रही शंकाओं पर भी पूर्ण विराम लग सकेगा।   

प्रदेश में जून 2013 में आई आपदा के बाद चारधाम यात्रा धीरे-धीरे पटरी पर लौट रही है। बीते वर्ष तकरीबन 25 लाख श्रद्धालु हेमकुंड समेत चार धाम यानी गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ और बदरीनाथ के दर्शन को पहुंचे थे। इस वर्ष प्रदेश में भारी बर्फबारी और बरसात हुई है। विशेषकर केदारनाथ मार्ग पर अभी भी कई फीट बर्फ जमी है। भारी बर्फबारी के कारण यहां खासा नुकसान भी हुआ। इससे सुचारू यात्रा को लेकर शंका के बादल मंडराने लगे थे। स्थानीय प्रशासन ने यात्रा शुरू होने से पहले व्यवस्थाओं में काफी सुधार किया था, लेकिन कहीं न कहीं इससे यात्रा प्रभावित होने की आशंका भी जताई जा रहा थी। 

इन सबके बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की केदारनाथ व बदरीनाथ धाम की यात्रा से सभी शंकाओं के निर्मूल होने का संदेश गया है। विशेषकर केदारपुरी में उनके रात्रि प्रवास से सरकार के सुगम और सुरक्षित चारधाम यात्रा के प्रचार को बल भी प्रदान किया है। सरकार और संगठन भी उनके इस दौरे को खासे उत्साह से देख रही है। 

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने कहा कि प्रधानमंत्री की बदरी-केदार की निजी अध्यात्मिक यात्रा है। उनके इस दौरे से सभी गदगद हैं। वह जब भी आए हैं हमेशा चारधाम यात्रा का अच्छा संदेश देकर गए हैं। उनकी इस यात्रा से निश्चित तौर पर सुरक्षित चारधाम यात्रा का संदेश जाएगा और अधिक से अधिक पर्यटक चारधाम यात्रा को आएंगे। इस बार चारधाम यात्रा में रिकॉर्ड तोड़ संख्या में तीर्थयात्री आएंगे। 

यह भी पढ़ें: केदारनाथ में पीएम मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट का हिस्सा है ध्यान साधना गुफा

यह भी पढ़ें: दिव्य रूप में निखरने लगी है केदारपुरी, पीएम ने अफसरों को दी ये टिप्स

यह भी पढ़ें: PM Modi in Kedarnath LIVE: दो किमी चलकर गुफा तक पहुंचे और कल सुबह तक करेंगे ध्यान साधना

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप