विकासनगर, जेएनएन। ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में आयोजित पैरा स्पोर्ट शूटिंग वर्ल्ड कप-2019 चैंपियनशिप में बेहतर प्रदर्शन कर स्वदेश लौटी भारतीय टीम का पछवादून के पौंधा स्थित जसपाल राणा शूटिंग रेंज में उत्तरांचल राज्य राइफल संघ के अध्यक्ष और पहले खेल मंत्री नारायण सिंह राणा ने स्वागत किया। पूर्व मंत्री ने कहा निशानेबाजी में देश के कई प्रतिभावान खिलाड़ियों ने अंतरराष्ट्रीय फलक पर बड़ी पहचान बनाई है। 

उत्तराखंड के पौंधा-देहरादून निवासी राष्ट्रीय कोच सुभाष राणा के नेतृत्व में पहली बार पैरालंपिक के लिए छह दिव्यांग खिलाडिय़ों ने कोटा प्राप्त कर अंतरराष्ट्रीय निशानेबाजी प्रतियोगिता में देश का नाम रोशन किया है। हाल ही में नौ से 19 अक्टूबर को आस्ट्रेलिया के सिडनी में संपन्न हुई पैरा शूटिंग वर्ल्ड कप चैंपियनशिप-2019 निशानेबाजी प्रतियोगिता में भारतीय पैरा दिव्यांग टीम ने प्रतिभाग कर बेहतर प्रदर्शन किया है। 

भारतीय कोच सुभाष राणा ने कहा कि सिडनी में भारतीय पैरा निशानेबाजी टीम के मनीष नरवाल ने फ्री पिस्टल-50 मीटर व्यक्तिगत स्पर्धा में कांस्य पदक जीता। जबकि सिंह राज ने दस मीटर एयर पिस्टल और पचास मीटर फ्री पिस्टल में कांस्य, दीपेंद्र सिह ने दस मीटर एयर पिस्टल में कांस्य पदक, अवनी लिखारा ने दस मीटर एयर पिस्टल और पचास मीटर फ्री राइफल प्रोन में तीसरा स्थान पाया। 

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड की सीनियर महिला टी-20 टीम चयनित, सुनीता बनी कप्तान

इसके अलावा सिद्धार्थ बाबू ने पचास मीटर प्रोन में कांस्य और स्वरूप महावीर ने दस मीटर एयर राइफल में कांस्य पदक जीते। पूर्व खेल मंत्री नारायण सिंह राणा ने कहा कि पैरा निशानेबाजी टीम से छह खिलाड़ियों ने 2020 में टोकियो में आयोजित होने वाली पैरालंपिक चैंपियनशिप के लिए कोटा प्राप्त किया है। 

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड को हराकर उप्र ने जीता नेशनल क्रिकेट प्रतियोगिता का खिताब

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप